सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

गोंडी व्याकरण, गोडवाना भाषा सिखें|


जय सेवा सागा जनो ,
      कुछोडों सैल प्रथम पृथ्वी का निर्माण हुआ, जो आगे चलने दो महाद्वीप में हुआ था, जैसा दो महाप्रलय का निर्माण, एक था यूरेशिया और दूसरा था गोंडवान महाप्रलय ये जो गोंडवाँ महाप्रपात एक महाप्रलय था| यह प्राचीन काल के प्राचीन महाप्रलय पैंजिया का दक्षिणी था| उत्तरी भाग के बारे में यह बताया गया| भारत के महाद्वीप के आलावा में महाद्वीप गो और महाद्वीप, जो मौसम में उत्तर में है, का उद्गम स्थल| आज से 13 करोड़ साल पहले गोंडवांस के वायुमंडलीय तूफान, अंटार्टिका, अफ़्रीका और दक्षिणी महाप्रलय का निर्माण |
      गोंडवाना नाम नर्मदा नदी के दक्षिण में प्राचीन गोंड राज्य से व्युत्प्न्न है, गोंडवाना नाम का सबसे पहला विज्ञान है | से गोंडिय़ों की भाषा का उद्गम था|
         गोंडी भाषा में भारत के एक बड़े आकार का है| जैसा आज की दुनिया में लागू होने वाली भाषा के साथ लागू होने वाली भाषा में जलवायु परिवर्तन की भाषा पर लागू होता है, अगर कोई वैरिएंट दुनिया में लागू होता है, तो संस्कृति, सभ्यता, भाषा, धर्म, कुछ भी लागू होता है| भाषा शब्द शब्द का प्रश्न है|

पासा पा पीयनीमाटा  

ओ सल्ला शक्ति इम , गांगरा शक्ति इम्मा|
पी सर पे मावा ओ पीरसा|
जीवा शक्ति इम्मा, जाति शक्ति इम्मा|
सजोर शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
कयामो शक्ति मावा, करुमो शक्ति मावा|
कामो शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
मंदोल शक्तीमा, मति शक्ति इम्मा|
मोह शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
पूणो शक्ति इम्मा, उनो शक्ति इम्मा|
गुण शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
मान शक्ति इम्मा, बल इम्मा|
पूत से पूत मावा, मसे पीरसा मावा ||
कासे शक्ति इम्मा, मसे शक्ति इम्मा|
गार शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
ठिमो शक्ति इम्मा, रयमो शक्ति इम्मा|
सयमो शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
गुररे शक्ति इम्मा, बुर्रे शक्ति इम्मा|
येल शक्ति मावा, ओ पीरसा मावा||
मन्ने शक्ति इम, जनत्रेरे शक्ति इम्मा|
ल शक्ति मावा, बाबा ओ पीरसा मावा||
पुंगार शक्ति इम्मा, सिंगार शक्ति इम्मा|
मीनिंगर शक्ति मावा, ओ पीरसा मावा||
केसर शक्ति इम्मा, वेंज शक्ति इम्मा|
लेंगार शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
आगस शक्ति इम्मा, पताल शक्ति इम्मा|
राल शक्ति मावा, ओ पीहरसा मा चोका ||
विंनासी शक्ति इम्मा, इवोउसी शक्ति इम्मा|
सल्ला शक्ति मावा, ओ पीहरसा मावा||
ओ बुढल मावा, ओ पीसा मांवा||
   || सेवा || सेवा || सेवा ||




Masaram Gondi volume
𑴀 𑴁 𑴂 𑴃 𑴄 𑴅 𑴆 𑴈 𑴉 𑴋

Gondi masaram Alfabet
    𑴌   K     क

    𑴍     KH    ख

     𑴎      G      ग

     𑴏    GH    घ

     𑴐     N     ड़

     𑴑    CH    च

     𑴒  CHH   छ

     𑴓      J     ज

     𑴔    JH   झ
  
     𑴕    NYA   ञ

     𑴖     T    ट

     𑴗    TH   ठ

     𑴘    D    ड

     𑴙   DH   ढ

     𑴚     N    ण

     𑴛     T     त

     𑴜    TH    थ

     𑴝      D    द

     𑴞    DH   ध

     𑴟     N   न

     𑴠     P     प 

     𑴡    Ph    फ

     𑴢     B     ब

     𑴣    BH   भ

     𑴤      M     म

     𑴥      Y     य

     𑴦      R      र

     𑴧      L      ल

     𑴨      V      व

     𑴩     SH    श

     𑴪     SH    ष

     𑴫      S      स

     𑴬      H     ह 

     𑴭  

     𑴮   KSH    क्ष

     𑴯     GY    ज्ञ

     त्र 


 सप्ताह के दिन 

 𑴠𑴵𑴦𑴨𑴱𑴟𑴺𑴖 (पुरवानेट)- रविवार

𑴟𑴧𑵅𑴧𑴱𑴟𑴺𑴖 (नल्लानेट) - सोमवार

𑴫𑴴𑴦𑴌𑴱𑴟𑴺𑴖 (सुरकानेट) - मंगलवार

𑴤𑴴𑴗𑴱𑴟𑴺𑴖।    (मुठानेट)   - गुरुवार

 𑴟𑴲𑴧𑴴𑴟𑴺𑴖   (निलुनेट) - शुक्रवार

𑴁𑴦𑴵𑴟𑴺𑴖   (आरुनेट) - शनिवार|



महीनो के नाम

𑴢𑴲𑴧𑴤𑵅𑴢𑴱𑴧𑴽𑴤𑴱𑴟। (बिलम्बालोमन) - जनवरी


 𑴦𑴟𑵅𑴘𑴽𑴤𑴱𑴟 (रन्डोमान) - फरवरी


𑴤𑴴𑵀𑴝𑴽𑴤𑴱𑴟 (मुंदोमान) - मार्च


𑴟𑴱𑴧𑴽𑴤𑴱𑴟 (नालोमान) - अप्रैल


 𑴫𑴥𑴽𑴤𑴱𑴟 (सयोमान) - में


 𑴫𑴱𑴦𑴽𑴤𑴱𑴟 (सारोमान) - जून


𑴥𑴺𑴦𑴽𑴤𑴱𑴟 (येरोमान) - जुलाई


 𑴀𑴦𑴽𑴤𑴱𑴟 (अरोमान) - अगस्त


 𑴟𑴦𑴽𑴤𑴱𑴟 (नरोमान) - सितम्बर


 𑴠𑴝𑴽𑵀𑴤𑴱𑴟 (पदोंमान) - अक्तुम्बर


 𑴠𑴟𑴝𑴴𑴟𑴝𑴽𑴤𑴱𑴟 (पनदुनदोमान) - नवम्बर


 𑴀𑴤𑵅𑴢𑴛𑴽𑴤𑴱𑴟 (अम्बतोमान) - दिसम्बर 


रिश्ते नाते वाले नाम 
तममु     -  भाई
शेलाड    -  बहन
यायाल    -    माँ
बाबाल    -  पिता
नाना      -  अक्को
नानी      -  काको
मौसी      -  कुचो
मर्री       - लड़का
मियाड    -  लड़की
तुडाल     - लड़का
तूड़ी      - लड़की
पेका      -  लड़का
पेड़ी       -  लड़की
सांगो      - मामबहन
येनाल     - मामा का लड़का
तादो      -  आजा
तादि      -  आजी
छवांग     - बच्चे
बहु       - कोडयाल
भाटो      - जीजा
सरन्दू     - साला
सड़ेमर्री    - भांजा
सड़ेमियाड  - भांजी                                       
बये           -          माँ 
बाबाल      -       पिताजी 
दादाल       -        भाई
तमुर          -        छोटा भाई 
सेलाल         -       बहन
काकाल     -        चाचा 
पेपी         -       बडे चाचा
पेरी         -       बड़ी माँ
उकी        -       काकी
अंगे         -       भाभी
अक्को     -    नानाजी ( माँ के पिता )
काको       -     नानी
आजी     -     दादी
मामाल    -    मामा



कोयावंशी - गोंडवाना वंशी
कोयावासी - गोंडवाना वासी
कोया  - गोंड़
कोया  -  कोइतुर
कोयांग  - गोंडि भाषा
कोयने  -  गोंडि भाषा
राज     - राज्य
लम्बेज  -  भाषा
पोलो    -  भाषा
अब वाक्य
1) अमोट कोइतुर मन्दा     
   >> हम गोंड़ हैं।
 
2) अमोट आदिवासी हिललेतुर  
   >> हम आदिवासी नहीं है।

 3) अमोट सबे कोयावंशी कोइतुर लोगुं  आन्दूर ।
   >> हम सब गोंडवाना वासी  गोंड़ लोग हैं।

4) अमोट कोयावासी मन्दौर 
  >> हम गोंडवाना वासी हैं।
 
5) अना कोयावंशी ता कोइतुर मन्दोना  
  >> मैं गोंडवाना वंशी का गोंड़ हु।

6) नावोर पुनेम कोया पुनेम आन्दूर 
  >> मेरा धर्म गोंडि धर्म है। 

7) अना हिन्दू हिल्लेतुर  -  
  >> मैं हिन्दू नहीं हूं।

8) नावोर मुठवापोय पहांदी पारी कुपार लिंगो बाबाल आन्दूर  
  >> मेरे धर्मगुरु पहांदी पारी कुपार लिंगो बाबा हैं।

 पहांदी पारी कुपार लिंगो बाबाल ना सेवा सेवा
 काली कंकाली दाई ना सेवा सेवा 
 बुढालपेन ता सेवा सेवा 

कोयंग वडुक/ हिंदी शब्द
स.. - थकने के बाद आराम लेने के पहले किया गया शब्द !

संजा - शरीर के किसी एक अंग का थकना

सगर  - जीनवरो का आवागमन का साधन/ रास्ता

सग्गुम - अनेक राह/ नदी, नालो  का मिलना / मुलाकात करना !

सव - बासा, सड़न लग जाना

सर्री - रास्ता

सरन - शैया

सवी - मांस

सड्डे - घुटना और मुरवा के मध्य वाला सामने वाला भाग 

सटक - फनकना

सटार - हसिया/ पावसी

सरखो - सीधा

सरंडार - साली

सरंडु  - साला

सड़ेका  - चार चिरोंजी (फल)

सहारी  - हुजुम/भीड़

सहाकी। - ओखरी (धान से चावल बनाने वाली ग्रामिण मशीन)
सकाडे  - सुबह

सड्डन  - छत

सावे   - उम्र होने के उपरांत पुन: नव उम्र के लिये आने की क्रिया! 

साताल - मृत अवस्था

साये   - मरने वाला

साम - मरजा

साह/ सोर्रे - मुर्गी को धुतकारना 

सादा - प्रकृति धान जिसे मानव द्वारा उगाया नही जाता ! 

सादा - सीड़ी, रसैनी

साद - फलन

सार - मालिश

सांगा - आधार(वाहन आदि का)

सांगड़ो - कद काठी से परीपूर्ण

सिंगार - एकत्रित करना

सिक्काट  - अंधेला

सितरो    - किसी विषय वस्तु मे खरा नही उतरना

सिहरा    - कमजोर

सिरका   - बारिक छेद (जानवरो के मुह का)

सिर्राल    - भेंगा/ तिरछा

सीम।      - दे

सुन्जाय    - सोना

सुत।        - टुक आना  

सुर्रे मुर्रे     - सरमाना

सुरुप      - किसी जीच मोडना

सुरका     - धीमी गति से हवा की बहाव

सुक्कुड़  - पेज निकालने का चम्मच

सुबरे      - इतराना

सुक्के/सुर्रा - धोना

सुकाल  - भरपुर/ परीपूर्ण

सूम  - कंजुस

सूड़  - लकडी ढेर

सूदो  - बहुत ही कम मात्रा

सेड़ा  - वृद्ध (पुरुष)

सेंग  - मिजान (किसी कार्य के लिये पूर्व नियोजित पद्धति )

सेड़ो। - वृद्ध ( महिला)

सेमोड़ - नाक से निकला लसलसा पदार्थ

सेंगा -   बिना टूटा हुआ / पूर्ण (फलो के लिये)

सैय्या - झाड़ु लगाना

सोहली - खुजली

सोहा  - खुजाना

सोद्दोल - चुल्हा

सोरना  - पतली नाली

सोकर   - करवट

सोंदी   - कोना

सोड़िताल - अंदर घुसा हुआ

सोडया    - अंदर घुसो

गोंडि वाक्य
1) Rahul उंदी पाटा वारितोर
  >> राहुल एक गीत गा रहा है।

2) Rahul ता यायल गाटो अट्टिता
  >> राहुल की माँ खाना पका रही हैं।

3) माक कोयातोरीं करिया
  >> हम गोंडि सिख रहे है।

4) राहुल आपुनां मनिलां नोरितोर
  >> राहुल ने फ़िल्म देखी।

कोया शब्द

आसतुंगनांग          -  आशाऐं

 मुस्कुल                -  मुस्किल

 जिनगी                -  जीवन

करितान               -  सिखा

सगा -सोलराल्क    -  संबंध

कदेर                   -  कदर

सुट्टमकुन             -  संबंधों

कड्डो                   -  मजबुत

इत्ताल /इदमना      -  ऐसी

जिनगी कियाना     -  जिना

कुछ वाक्य 
गोंगो  -  पूजा

पेन    -  देव

नेंड बदरो नेटी आन्दू -  आज कोनसा दिन है?
1 पुरवानेट       2 सुरकानेट
3 नल्लानेट       4 आरुनेट

बदरो नौकरी किनतेर  -  कोनसी नौकरी करते हो?

मुठवापोय  -  धर्मगुरु

पेन  -  देव

कोया - गोंड़

पुनेम -  धर्म

नावा पुनेम कोया पुनेम आन्दू - मेरा धर्म गोंडि धर्म है।

मिवा पुनेम बतल आंद - आपका धर्म क्या है?

चुडूर -  छोटा

फडा  -  बड़ा

तममूर -  छोटा भाई

चुडूर तममु -  छोटा भाई।

फडोर तममु  -  बड़ा भाई।

फडूर शेलाड -  बड़ी बहन

फडोर शेलाड - बड़ी बहन

फडडोर      - बड़ी बहन

चुडूर शेलाड -  छोटी बहन

सगाओ अपलो कोया  लम्बेज  करियाट

   गोंडी            हिंदी शब्द 

आसतुंगनांग      -  आशाऐं

मुस्कुल             -  मुस्किल

जिनगी             -  जीवन

करितान            -  सिखा

सगा,सोलराल्क  -  संबंध

कदेर                -  कदर

सुट्टमकुन          -  संबंधों

कड्डो                -  मजबुत

इत्ताल /इदमना   -  ऐसी

जिनगी कियाना  -  जिना


गोंडी        हिंदी शब्द 

नना          -  मै 

अना         - मैं

नाक         -  मुझे 

नाकुन       -  मुझको

नाका        -  चाटना

नरका       -  रात्री

नर/गोहड़ा  -  पुरुष

नन्त         -  जनन

नंगडा       -  जभी का 

नन्द         -  भरा हुआ

नांगा        -  अनुपस्थित

नावोर      -  मेरा 
नानता      -  भींगा हुआ
नाड़ी        -  कल
नाहा        -  भीगा
नाशिक     -  डूबाने वाला, पेरने वाला, खर्चिला
नालुंग      -  चार
निवोर      -  तुम्हारा/आपका
नीरा        -  प्योर(असल)
नुल्पे        -  शाम समय
नूंग          -  तिल

gondi में कोसना या सलाह देने वाले शब्दकोश

धुंग्गा उंडीना बेस हिले
धूम्रपान करना बुरा है.
It is bad to smoke.

ईंदीना असाने मंदा
कहना आसान है.
It is easy to say.

कियाना कटिन मंदा
करना कठिन है.
It is hard to do.

Naukri फुट्हिना कटिन आई फर्ता
नौकरी प्राप्त करना कठिन हो सकता है.
It may be difficult to get the job.

चारु तिगे ताकिना सोबा ता
घास पर चलना अच्छा है.
It is good to walk on the grass.

अदेन मरंगाना असाने हिले मत्ता
उसे भुलाना आसान नहीं था.
It wasn’t easy to forget her.

इद केंजिना दुख्खम मंदा
यह सुनना दुखद है.
It is sad to hear it.

निया सां भेटे मायना उंन्दी संयोगे मत्ता
तुमसे मिलना एक संयोग था.
It was a co-incident to meet you.

मुड़ा /ठालल ढोड़ियाल ईराना निक्को आईता
गाय रखना शुभ है.
It’s auspicious to have cow.
gondi 

भाषा में पारंगत हासिल करने के लिए , अपनी दैनिक बोल-चाल कि भाषा में गोंडी भाषा का प्रयोग करना आवश्यक है।ऐसा करने से आपकी gondi  बोल चाल और अधिक निखरने लगेगी।



संभावनाओं को व्यक्त करने वाले शब्दकोष

उंन्दी सावरी ते पदन्ड मान्क आईतां
एक वर्ष में बारह महीने होते हैं.
There are twelve months in a year.

*कोली ते उन्दी टिवड़ी मंदा*
कमरे में एक दीपक है.
There is a lamp in the room.
*डुवाड़ तिगा बोरे हिले मत्तोर*
दरवाज़े पर कोई नहीं था.
There was nobody at the door.
*कक्छा ते रन्संय्यूं टुड़ाल्क मत्तोर्क*
कक्षा में पच्चीस लड़के थे.
There were twenty five boys in the class.
*उंन्दी सप्ता ते येरुंग नेटींग आईतां*
एक सप्ताह में सात दिन होते हैं.There are seven days in a week.
*मावा गोटुल ते मंडू पड़ेकेवाल्क मंदोर्क*
हमारे विद्यालय में तीस अध्यापक हैं.
There are thirty teachers in our school.
*अट्टे कोली ते उन्दी fridge मत्ता*
रसोई में एक फ्रिज था.
There was a refrigerator in the kitchen.
*खेड़ा ते उन्दी बुर्काल मत्ता*
जंगल में एक शेर था.
There was a lion in the forest.
*Computer ते birthday software हिले मत्ता*
कंप्यूटर में कोई सॉफ्टवेर नहीं था.
There was no software in the computer.
*बादेर ते हुक्कों मत्तां*
आकाश में तारे थे.
There were stars in the sky.
गोंडी सिखने के लिए आपके अन्दर एक बहुत अच्छी सिखने कि ललक का होना जरुरी है।

गोंडी +हिंदी>>>
*(सबसे अधिक प्रयोग किए जाने वाले अंग्रेजी शब्द और शब्दावली)*
*हर्री हुड़ाना* - wait  -इंतज़ार करना
*कालताकिना* - walk - पैदल चलना
*इच्चाय* - want  - चाहत
*कास्ताल* - warm - गरम
*नोरि्रना* - wash - धोना
*किस* - fire - आग 
*येर* - water -पानी
*माक/अम्मोट* - we - हम
*मडमिंग* - marrage - शादी
*कुव्वा* - well - कुआ
*वल्लो* - wet - भीगा
*बति/बातल/बातां* - What - क्या





गोंडि वाक्य >>>
 अंउठा = अंगुठा 
> नांहगे अंउठा सोबाय ता (आपका अंगुठा अच्छा है) 
(2) ऊंडाना = पिना 
>  रोजे येर उंडाना (रोज पानी पिना चाहिये)
(3) अटिना  = पकाना 
> गाटो अटिना (खाना पकाना)
(4)अगेने   =  वहीं पर
(5)इगेने   =  यहि पर
(6)अच्चुरे  = उतना
(7)अटकुम = खिरा
(8)अट्टे   =   पकाने वाला
(9)अट्यार  = गरम पानी
१०)अड़की  = बुखार

वाक्य > वर्तमान काल 
मंदोना = हूँ  =  am 
मंदोर्क  = है = is,are 
मंदोनी= हो  =  are 
भूतकाल >
मत्तोर = था = was 
मत्ता = थी = was 
मत्तोर्क = थे =  were 
भविष्यकाल >
मंदानुर्क =  होंगे = shall 
मंजोर = होगा =  will 
मंदार  =  रहेगा = will 

वाक्य > गोंडी , हिंदी और  अंग्रेजी 
*पाल सर्रतु*
1. दूध फट गया.
The milk turned sour.
*नावा दसना तारसिम*
2. मेरा बिस्तर लगा दो.
Make my bed.
*मेंदुल नोरीना  बेकेट*
3. गुसलखाना किधर है?
Where is washroom?
*पंका ताक्सीसिम*
4. पंखा चला दो.
Switch on the fan.
*लट्टु पिहचीम*
5. बत्ती बुझा दो.
Switch off the light.
*निमे सुड़ी बेगे ईरती*
6. तुमने चाकू कहाँ रख दिया है?
Where have you kept the knife?
*पपु शुदो पेपर तरा *
7. पप्पू, ज़रा अखबार तो लाना.
Pappu, get me the newspaper.
*नेंड पुर्वानेट आन्दू*
8. आज रविवार है.
Today is Sunday.
*नाकुन मनिलां प्रेस कियाना मंदा*
9. मुझे कपड़े इस्त्री करने हैं.
I have to iron the clothes.
*डाक्टेर तुन फोन किम*
डाक्टेर के लिये गोंडी मे एक अलग शब्द भी है
10. डॉक्टर को फ़ोन करो.
Ring up the doctor.
*बाबो ना मेदुल चकोट सिल्ले*
11. पापा की तबीयत ठीक नहीं है.
Papa is not well.  
*नेंड वेल्ले कयुम (बुतो मंदा)*
12. आज तो बहुत काम है.
There is much work today.  
*सोनु निमे निया रोनबुतो किती*
13. सोनू, तुमने अपना गृहकार्य कर लिया?
Sonu, have you done your homework?
*निन्ने नर्का बेसे पिनी मत्ता*
14. कल रात बहुत ठण्ड थी.
It was very cold last night.
*वड़ा कर्सीना*
15. आओ, मैच देखें.
Come, let’s watch the match.
*हुडां बाहड़ो बेर मंदोर*
16. देखो, बाहर कौन है?
Look, who is at the door?
*नेंड पिर वायार*
17. आज वर्षा होगी.
It will rain today.
*ठालल तुन दोहा*
18. गाय को बांधो.
Tether the cow.
वाक्य > 
तिन = खाओ = eat
हन = जाओ =   go
वड़ा =  आओ  =   come
उद्दा =  बैठो     =  sit
सुड़ा  = देखो   =   see
सिम  = दो     = give
प्रश्नवाचक शब्द >
 Gondi=  Hindi =  English
*निया बताल पोरोल*
तुम्हारा नाम क्या है ?
What is your name?
*नावा पोरोल पीटर मंदा*
मेरा पीटर है ?
My name is Peter.
*अनी निया*
और तुम्हारा ?
and yours ?
*नावा पोरोल मोनिका मंदा*
मेरा नाम मोनिका है |
My name is Monika.
*निमा बेगे मंत्तोनी*
तुम कहाँ रहते हो ? 
Where do you live?

*नना कांकेर ते मंतोना*
मैं कांकेर में रहती हूँ |I 
live in kanker
*ओर बोर आन्दुर*(for male)
*अदु बद आन्दु*(For female)
वह कौन है ?
*ओर नावोर संगी आन्दुर*
वह मेरा दोस्त है |
He is my friend.
*ओर हिक्के बतीलाय वातुर*
वह इधर क्यूँ आया है ?
Why did he come here?
*वोर हिके करिनलाय वातुर*
वह इधर पढाई करने आया है |
He came here to study.
*ओन cg बिचार वानता बा*
उसे cg पसंद है क्या ?
Does he like cg?
*इंगे ओन छ ग बिचार वाता*
हाँ, उसे छ.ग.पसंद है | Yes, he likes cg .
*ओर अमेरिकी बसके हन्दानुर*
वह अमरिका कब जाएगा ?
When will he go to America ?
*ओर अमेरिका दिसरो मान हंदानुर*
 वह अमरिका अगले हफ्ते जाएगा |
He will go to America next week.
( शर्म की बात )
मुझे स्वंय को गोंडी नही आती,मैं गोंडी बोल नही सकता. ना ही समझ सकता .मेरे जैसे पढे लिखे नौकरीपेशा को चुल्लुभर पाणी में डुबकर जान देना चाहिये| दु:ख है ,कष्ट होता है कोई मुझसे गोंडी में बात करे और मै उन्हें जबाब गोंडी में नही दे पाता लानत है मुझपर हंसी आती खुद पर सभी छोटे छोटे बच्चें बोल रहे है . सिख रहे है . कमसे कम प्रयास भी कर रहे है और मैं कुछ नही कर रहा ,बडा दु:ख होता है| हमेशा लगता है की  क्या मेरी यह उम्र है भाषा सिखने की .?क्या इस उम्र में मै सिख पाऊंगा ? या गलत सलत उच्चार निकला तो लोग क्या कहेंगे| 
पढा लिखा होकर भी गवांर का गवांर रहा हुं?
क्या खाक मैं  गोंडीयन संस्कृती के बारें में बताऊंगा .खुद ही नही समझ सकता एंव बोल भी नही सकता तथा दुसरे ने गोंडी भाषामें वार्तालाप किया तो बस बाकी हलो, हलो ,या ,या बोलकर मान हिलाता रहता हुं . क्या खाक में गोंडी भाषा के बारें में आप  को कहुंगा.बडे कष्ट के साथ कबुल करता हुं की हमारे घर में सिर्फ दादी गोंडी बोलती थी. लेकिन उस के साथ गोंडी में वार्तालाप करनेवाला घर में कोई नही होने से वह भी नही बोल सकती थी.
इसलिये गोंडी बोलने के संस्कार नही होणे से, मैं आज भी गवांर हुं? भले ही उम्र कितनी भी हो जाये, लेकिन मैं नही बोल पा सका तो क्या हुआ?
गोंडीयन कौम को इस अनमोल गोंडी भाषा से कोई छिन नही सकता. गोंडीयन कौम को अपनी मातृभाषा को भुलना नही चाहिये 
इसकी आन बान शान बनी रहे ."भाषा  ही जिंदा  संस्कृती की निशानी है | इस का लाभ सभी को पहुंचे .कोई वंचित ना रहे. कोई शिक्षक मिले या ना मिले .बातचित करने वाला भी मिले,या न मिले बस स्वंय के साथ स्वंय के मन ही मन में स्वंय से वार्तालाप कर के इसे सिखने का एंव सिखाने का "मोतीकण" द्वारा का यह छोटासा प्रयास आचार्य मोतीरावण कंगालीजी सर को मन ही मन में दिये हुये वचन नुसार करते हैं|
उनके द्वारा किये हुये अथक अविरत प्रयास को ,संस्कृती को , गोंडीयनों तक पहुचानें के उनके महान कार्य को आगे ले जाने का प्रण लेते है .शपथ लेते है|और कोई गोंडीयन बंदा गोंडी भाषा से वंचित नही रहेगा, वह जरुर जरुर बोल सकेगा या कम से कम समझ सकेगा .मेरे जैसा अनपढ नही रहेगा|
> गोंडीयन कौम को कम से कम गोंडी से अवगत कराकर ,उन्हें गोंडी भाषा को अपनाने के लिये मजबुर करते है , हमें नही आती तो क्या हुआ. लेकिन कोशिश तो करते है| गोंडी को हिंदी एंव  अंग्रेजी नुसार समझकर बोलते है|
*नावोर साहेब नावा परो खुश मत्तोर*
 मेरा अधिकारी मुझ पर खुश था .
*My boss was pleased with me*
*नना नीवा मुंसार सी पंजोट मंदोना*
 मैं तुम्हारी प्रगती से संतुष्ट हुं .
*i am satisfied with your progress*
*ओर तनवा कयुम ते गुंग मंदोर*
 वह अपने काम में तल्लीन है.
*He is busy in his work*
*बाहुन ओर तनवा ताल्क सियाले तेदतुर,साळ थापोळींग ने घुमरे मातु.*
ज्यों ही वह अपना भाषण देने के लिये उठा ,हाल तालियों से गुंजने लगा .
*No sooner did he get up to deliver his speech , then the hall began to resound with cheers* 
*मुझे गोंडी भाषा बोलने एंव समझणे नही आती ,उस हेतु क्षमस्वं*
*बस आप सभी बोले एंव समझे इसी उम्मीद से सभी को जय सेवा जय गोंडवाना.*

गोंडी लम्बेज करियाट >   
#गोण्डी                                           #हिंदी
(१) नना वेडा तिके दान्तोंना - मैं खेत तरफ जा रहा रहा हूँ/रही हूँ ।
(२) निमा बगा दान्ती         - आप कहाँ जा रहे हो/रही हो।
(३) नना इदेक दाकान       - मैं अभी जाऊंगा/जाऊंगी।
(४) निमा बनेट दाकि        - आप कब जाओगे/जाऊँगी।
(५) नना नेंड हनोन           - आज मैं नही जाऊंगा/जाऊंगी।
(६) निमा दाकि वेडा तिके - आप जाना खेत तरफ।
(७) नावा नेंड लोते बुतो मन्ता - आज मेरा घर मे काम है।
(८) नमोट दालतोरोम जंगेल तिके - हम जा रहे है जंगल तरफ ।
(९) निम्माट इगाय मनकीट - आप यही पे रहना।
(१०) वोर दातोर - वह जा रहा है।
(११) नना हुन्जी मतोना - मैं सोया था।
(१२) येर नावोर मर्री आंदुर- ये मेरा बेटा है।
(१३) इद नावा मियाड़ आन्दु - ये मेरा बेटी है।
(१४) इद नावा कोयताड़ आन्दु - ये मेरा पत्नी है।
(१५) येर नावोर मुदियोर आंदुर - ये मेरा पति है।
(१६) इद नावा हजोर दीदी आन्दु - ये मेरा बड़ी बहन है।
(१७) येर नावोर हजोर दादाल आंदुर - ये मेरा बड़े भाई है।
(१८) ना यायाल - मेरी माँ।
(१९) ना बुबाल - मेरे बाबा/ पापा/ पिता जी।
(२०) नावोर पेपी - मेरे बड़ेपिता जी।
(२१) ना पेरी - बड़े माँ/बड़ी मम्मी।
(२२) नावोर काकाल - मेरे काका/चाचा जी।
(२३) नना अक्को निगा हन्जी मतोना - मैं नाना जी के यहां गया था।
(२४) न लाडली काको - मेरा प्यारी नानी।
(२५) मामन मियाड़ संगे मरमिंग कियाना आंदूँ - मामा के बेटी से विवाह करना है।
(२६) नना गोडूम दिप्पा दाँतोना - मैं टिकरा तरफ जा रहा हूँ।
(२७) डुवाल कोटुम ते मन्ता - शेर जंगल मे रहता है।
(२८) कोटुम ते मराक मन्ता - जंगल मे पेड़ है।
(२९) कोटुम/जंगेल ते चितराल हुड़तान - जंगल मे हिरण देखा ।
(३०) नमोट लोते दानतोरोम - हम घर जा रहे है।
(३१) नना लोते ह्नजोर मतान - मैं घर जा रहा था।
(३२) पेकाल कगेत पढ़े किंतोर - बालक पुस्तक पढ़ रहा है।
(३३) पेकि कगेत पढ़े किलता - लड़की पुस्तक पढ़ रही है।
(३४) नरकाय आतु तेदा - शुबह हो गया उठो।
(३५)ऐरा नोना/पेका हिके वाय - हे बालक इदर आवो।
(३६) मुलान होक वायक़ी - शाम को आना।
(३७) नना नरकाय हेर पुहका - मैं शुबह हल जोतुंगा।
(३८) नना गाटो तिनतोना - मैं खाना खा रहा हूँ।
(३९) नना गाटो तिनजोर मतान - मैं खाना खा रहा था।
(४०) नना वयका - मैं आऊंगा।
(४१) निमा वायक़ी - आप आना।
(४२) नना केयका - मैं बुलाऊंगा।
(४३) नना केवोन - मैं नही बुलाऊंगा।
(४४) वोर केयलातोर - वे बुला रहे हैं।
(४५) अद नाक केयलता - वो मुझे बुला रही है।
(४६) नना मालाकोट तोर आंदन - मैं मालाकोट का हूँ।
(४७) निया बाता पदोर? - आपका क्या नाम है?
(४८) निमा बगडाह चिन? - आप कहाँ से हो?
(४९) निमा बद नटोर मानेय आनंदी - आप कौन से गाँव के हो ।
(५०) निया लोते बचोर मानेय मंतोर - आपके घर मे कितने लोग( आदमी) हैं।
(५१) नना नरकाय जटके तेदलातोना - मैं शुबह जल्दी सो उठता हूँ।
(५२) नरकाय ता गाटो कुसरी यायाल अटलता - शुबह की खाना सब्जी मां बनाती है।
(५३) मुलान होक त गाटो कुसरी हजोर दीदी अटलता- शाम का खाना सब्जी बड़ी बहन पकाती/बनाती है।
(५४) निकून नेवता लोहचितोना - आपको खबर भेजा हूँ।
(५५) निमा मरमिंग ते वायक़ी - आप विवाह में आना।
(५६) निमा नाड़ी वायक़ी - आप कल आना।
(५७) कय नोरसी गाटो तिन्दना आन्दु - हाथ धो के भोजन करना चाहिए।
(५८) निमाट गोंड़ीं पल्लो पुन्तिट - आप गोण्डी भाषा जानते हो।
(५९) निमा गोंड़ीं पल्लो पुन्ति - आप गोंड़ीं भाषा जानते हो।
(६०) नना गोंड़ीं पल्लो पूनोन - मैं गोंड़ीं भाषा नही जानता हूँ।

> संयुक्त राष्ट्र संघ (UNO) का जनजाति पहचान अधिनियम 
(9 Sep 1992 Jenewa)
( st identification criteria)
 के अनुसार...अपनै को जनजाति साबित करने के लिये या जनजाति
की अनुसूची मे आने के लिये निम्न शर्ते
हैं......
@1.उनकी अपनी टोटम /गोत्र/पाडी व्यवस्था होनी चाहिए|
2.उनकी अपनी भाषा होनी चाह.....
3.उनकी अपनी नियम होनी चाहिये अलग व विशिष्ट रीति रिवाज/रुढी प्रथा , परंपरागत प्रथा
(costumary law) होने चाहिये.इन शर्तों मे किसी एक के भी
ना होने की स्थिति में...वह "अनुसूची जनजाति" का नही माना जायेगा. जनजाती प्रमाण पत्र नही! बनाया जायेगा और जनजातियों का मिले समस्त संवैधानिक अधिकारों से वह वंचित रह जायेगा.…
धर्मांतरण से>
ये अपनी भाषा रीति रिवाज भूलते जा रहे हैं....ये विकट समस्या है....साथ ही जनजातियों का "हिन्दुकरन" "ईसाईकरण 
और "अत्याधुनिकता" के प्रभाव से अपने समस्त लक्षणों को भूलते जा रहे जिस दिन हम UNO द्वारा निर्धारित समस्त शर्तों मे से किसी एक का भी पालन नही कर पायेगा वह अनुसूचित जनजाति के समस्त सुविधाओं से वंचित हो जायेगा..
""ना फ़िर कोई सविन्धान कुछ कर पायेगा ना ही 5-6 अनुसुची, ना भारत सरकार ना केन्द्र सरकार""

* कोयावंशी कोया लम्बेज >
 सगाओ अपोलो कोया लम्बेज करियाट = सगाओ अपनी गोंडि  भाषा सीखिए|
 नावा पोरोल किसाना मन्दा =  मेरा नाम किसाना हैं।
 उंडे, नावा पाड़ी उइके मन्दा  =  और, मेरा उपनाम उइके हैं।
 मावोर पेन सारूंग पेन मन्ता =  हमारे देव छह देव हैं।
 मिवा पेन बच्चोंग मन्दा =  आपके देव कितने हैं?
 मिवा पाड़ी बती मन्ता = आपका उपनाम क्या है?
 सगाओ अना कोया लम्बेज करितोर = सगाओ मैं गोंडि भाषा सिख रहा हूँ।
 नाक अपोलो लम्बेज जर्री जर्री वांता  =  मुझे अपनी गोंडि भाषा थोड़ी थोड़ी आती हैं।
 नीकुन कोया लम्बेज वातांग  =  तुमको गोंडि भाषा आती हैं क्या? 
 नेंड मुठानेट आन्दू  =  आज गुरुवार हैं
 सबुटे सगा जन बाहुन मन्तोर = सभी सगा जन कैसे है ?
 अना बेस मंतोन   =  मैं ठीक हु।
 सगाओ नावा कचुम बेरो हिल्लेतुर =  सगाओ मेरे पास समय नहीं है।
 बती निवा कचुम बेरो सिल्लेतुर बा =  क्या आपके पास समय नहीं है क्या ?
 नाकुन रण्ड कविंग मन्दा  =  मुझको दो कान है।
 नाक उंदी कय मन्दा  =  मुझे एक हाथ है।
 माकुन रण्ड कन मन्दा  =  हमको दो आंख हैं।
 सबुटे ता नाशता आतु बा =  सुबह का नाश्ता हुआ क्या।
 नावा नाश्ता आतु  = मेरा नाष्टा हुआ।
 सगाओ नावा कोया पुनेम मन्दा =  सगाओ मेरा गोंडि धर्म है।
 मिवा पुनेम बदरो आन्दूर = आपका धर्म कोनसा हैं।
 नेंड ता मिवा नेटी सोबाय चकोट हन्नी = आज का आपका दिन मंगलमय हो।
* महत्वपूर्ण शब्द >
इममे  =  तुम्हे
इम्मा  = आप
इम्मा  =  तुम
इम्माट =  तुम ( जोर देकर )
सापांग  = बैगन
सर्री   =  रास्ता
अगेडाल  =  यहाँ से
बगेडाल = कहा से
वायका  =  आऊंगा
वायकी = आऊँगी।
गाटो     = भात
पर्याक = चावल
जावा = भोजन
बच्चोंग  = कितना
बेरो       = समय
रोन       =  घर
उंडे/ अनि  = और
नावोर शेलाड = मेरी बहन
नावा तममु  =मेरा भाई।
तुन/कुन   =  को
वललेंग   =  बहुत
* वाक्य >
तादो बाबाल - दादा के पिता
तादो          - दादा
दाऊ      -  पिता
मर्री      -   पुत्र
तंग मर्री  -  पोता
6..फड़ोर तादो - बड़े दादा
7..फड़ोर दाऊ - बड़े पिता
8..काकल - चाचा
9..फड़ोर काकल - बड़े चाचा
10..आजी दाई - दादा की माँ
11..आजी - दादी
12..दाई - माता
13..मियाल - पुत्री
14..तंग मियाल - पोती
15..फड़ा आजी - बड़ी आजी
16..फड़ा दाई - बड़ी माता
17..काकी - चाची
18..फड़ा काकी - बड़ी चाची
19..तम्मु - भाई
20..अंगाल - बड़ा भाई
21..नतिजाल - भतीजा
22..आती - बुआ
23..काकतुम - चचेरा भाई
24..तादो मुरहियल - दादा ससुर
25..मुरहियल - ससुर
26..तला मुरियल - जेठ
27..काका मुरहियल - ससुर का भाई
28..मिददो - पति
29..सरंडू - साला
30..काक दियाल - छोटे ससुुर का पुत्र
31..तंगोरार - जेठ साली
32..पेपी - बड़े पिता
33..बाबाल - पिता
34.. कोरा मर्री - गोद पुत्र
35..सेल्हर - बहन
36..अंगे- भाभी
37..नतिजे - भतीजे
38..कोरियार- बहु
39..काक सेलर - चचेरी बहन
40..आजी पोरर - दादी सास्
41..पोरर - सास्
42..शेरियार - जेठानी
43..काका पोरार - ससुर के भाई की पत्नी
44..मायजु - पत्नी
45..सरनडार - साली
46..तकाडी - देवरानी
47..पेपी दाई - बड़ी माता
48..आवाल ,यायाल - माता,पिता
49..सनने - दामान्द
50..अक्को दाऊ- नाना के पिता
51..मामाल - मामा
52..येनाल - मामा का पुत्र
53..संग मर्री - बहन का पुत्र
54..सांगो - मामा की पुत्री
55..भाटो- बहन का पति 
56..सगे मर्री - माता के भाई का पुत्र
57..मामी - मामा की पत्नी
58..काको दाई-  नाना माँ
* सामान्य वाक्य >
*नावा देसते बोर राज कियानुर*
मेरे देस मे कौन राज करेगा?
*नावा नाटे कोयतोर राज कियानुर*
मेरे गांव मे गोंड राज करेगा!
*निया नाटे बोना पाटा वारीतरिट*
तुम्हारे गांव किसके गित गाते हो?
*नावा नाटे कोयतोर पेन्क ना पाटा वारी*
मेरे गांव मे गोंड देवाों के गित गाते हैं !
*निमा अनी नना रंडे*
तुम व मैं दोनो
*नावा कचुल मंदा*
मेरे पास है
*रंडे नुल्पे मोका करसकाट*
दोनो शाम को खेलेंगे
*मावा रोन कचुल कचुल मंदा*
हमारा घर पास पास हे !
*नाकुन सुंजी वसता*
मुझे निंद आरही है!
*सकाड़ आतु तेदा*
सुबह हो गई उठ जावो
*निकुन येर कियाना सिले बा*
तुम्हें नाहाना नहिं हे क्या?
*नाकुन उंडे सिम ना*
मुझे भी दो ना 
*सिय्योन*
नहिं दुंगा/दुंगी
*ओन वेहचीकी*
उसे बता देना
*नना वेहोन बती उंडे वेहका*
मैं नहि बताता क्या बताउंगा
*हिक्के वड़ा*
इधर आवो 
*हक्के हन*
उधर जावो

*हक्के दा*
उधर चलो
*निमा वायवी बा*
आप नहिं आ रहे क्या
*निमे उंडे दय*
आप भी चलो 

(मिलने के लिए समय चुनना कि बातचीत)
*निमा ना सां नर्का गाटो तिंदाकी बा*
:क्या तुम मेरे साथ रात का खाना खाओगे?
 would you like tohave dinner with me?
*इंगो अद बेस आयर निमे बसके हंदीना बितार केकी*
हाँ, वह अच्छा रहेगा. तुम कब जाना चाहते हो?
Yes. That would be nice.When do you want to go?
* बती नेंड बेस आयर*
i:क्या आज ठीक रहेगा?
Is today OK?
*मापी किम नना नेंड वाया फरोन*
माफ़ कीजिये. मैं आज नहीं जा पाऊंगी
Sorry, I can't go today.
*नाड़ी नर्का बाहची मंदार*
कल रात कैसा रहेगा?
How about tomorrownight?
*बेस मंदा बचोर नेके*
ठीक है. कितने बजे?
Ok. What time?
*नर्का नरुंग नेके बेस मंदार बा*
क्या रात के नौ बजे ठीक रहेगा?
Is 9:00PM all right?
*नाक लागिता का बेसे टेम असियार*
मुझे लगता है कि वह बहुत देर हो जायेगी
I think that's too late.
*नर्रका सारुं नेके बेस मंदार बा*
क्या शाम के छ: बजे ठीक रहेगा?
Is 6:00PM OK?
*इंगो अद बेस मंदा निमे बेगे हंदाकी*
हाँ, वह अच्छा है. आप कहाँ जाना चाहते है?
Yes, that's good. Wherewould you like to go?

*सयुंग  तिगे इटालियन रेस्तौरांत ते*
5th Street पर इटालियन रेस्तौरांत में
The Italian restaurant on5th street.
*ओहो नाकुन अद रेस्तौरांत बिचार वायो नाक अगे हंदा वसो*
ओफो, मुझे वह रेस्तौरांत पसंद नहीं है. मैं वहाँ नहीं जाना चाहती.
Oh, I don't like thatRestaurant. I don't want togo there.
*अदुना कचुटा कोरियन रेस्तौरांत बाहची मंदार*
उसके पास वाला कोरियन रेस्तौरांत कैसा रहेगा?
How about the Koreanrestaurant next to it?

*बेस नाकुन अद जागा बिचार वाता*
ठीक है, मुझे वह जगह पसंद है
OK, I like that place
* वाक्य >
*रोन = घर = House/Home
*गाडा = गाड़ी = Vehicle
*सर्री  = रास्ता =  Road
*बाहड़ो = बाहर = Outside
*वड़ी = हवा     = Air
*अद्दी = धुप     =  Sunlight
*इंगो/इंगे = हाँ  = Yes
*हिले  =  नहीं   =  No
*धन्नेई  =  धन्यवाद = Thank You
*येर    =  पानी      =     Water
*गाटो  =  खाना    =      Food
*सोबाय/चकोट =  अच्छा = Good/Nice/Fine
*चाहा  = चाय   =    Tea
*बेरो   = समय      =    Time
*नेटी   =  दिन।      =    Day
*नर्का।  =  रात.    =   Night

*मापी कीम =  माफ़ कीजिये =  sorry 
*मति   =   किन्तु    =     but

*आपलो लोतोर लोकुरक ना बारेत ते वेहिना*
Introducing your family.
अपने परिवारजन का परिचय ।
*जय सेवा =  नमस्ते   =  Hello !
*निमे बाहची मंतिन*
आप कैसे हैं ?
How are you?
*चकोट मंदोना*
मैं ठीक हूँ |
I am fine.
*धन्नेई*
धन्यवाद
Thank you.
*इद बती आंदु*
यह क्या हैं ?
What is this?
*इदु लिखनी आंदु*
यह पेन हैं |
This is a pen
*येर बोर आन्दुर*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*येर नावोर दादाल आन्दुर*
यह मेरा भाई है |
He is my brother.
*इद बद आन्दु*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*इद नावा सेलाड़ आन्दु*
यह मेरी बहन है |
She is my sister.
*येर बोर आन्दुर*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*येर नावोर बाबो आंदुर*
यह मेरे पिताजी है |
He is my father
*इद बद आंदु*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*इद नावा यायाल आंदु*
यह मेरी माँ है |
She is my mother.

*Chapter-1st (Conversation)>>>
*An Uncle And A Boy >>>
*सोनु- निक्को नुल्पे काका*
सोनू : हेलो अंकल, सायंकाल की नमस्ते. 
Sonu : Hello uncle, good evening.
*काका-जय सेवा सोनु रप्पो वड़ा*
अंकल : नमस्ते सोनू बेटे. अन्दर आओ.
Uncle : Good evening Sonu my son. Come in.

*सोनु- धन्नेय काका पियुष रोते मंदोर बा*
सोनू : धन्यवाद अंकल. क्या पीयूष घर पर है?
Sonu : Thank you uncle. Is Piyush at home?
*काका -हिले, वोर हाटुम हत्तोर ,उंडेे वेहा वायाना आतु*
अंकल : नहीं, वो तो बाज़ार गया है. और बताओ, कैसे आना हुआ?
Uncle : No, he has gone to market. Well, tell me, what brings you here?
*सोनु- नेंड नना गोटुल हनवाके इंजी रोन लाय कयुम  पुछे माईले  वासी*
सोनू : आज मैं स्कूल नहीं गया था. इसलिए गृहकार्य के बारे में पूँछने आया था.
Sonu : Today I couldn’t go to school. So, I wanted to ask about homework.
*काका- बेस मंदा वोर वातेक मंजोड़े ,वड़ा तवरिक वड़कीट*
अंकल : ठीक है. वह आता ही होगा. आओ तब तक बात करें.
Uncle : That’s good. He would be coming in a short while. Let’s talk till then.
*सोनु - इंगो काका* 
सोनू : जी अंकल.
Sonu : Of course, uncle.    
*काका-ते सोनु करियाना बाहची ताकिता*
अंकल : तो सोनू, पढ़ाई कैसी चल रही है?
Uncle : Well Sonu, how is your study going on?
*सोनु-- सोबाय चकोट*
सोनू : बिलकुल ठीक.
Sonu : It’s all right.
*काका -- निमा बद वर्गा ते मंदोनी*
अंकल : तुम किस कक्षा में हो?
Uncle : In which class are you?
 *सोनु-- वर्ग सारुं ने*
सोनू : कक्षा छ: में.
Sonu : In class six.
*काका -- बद वर्गा ते*
अंकल : किस वर्ग में?
Uncle : In which section?
*सोनु -- वर्गा c ते*
सोनू : वर्ग सी में.
Sonu : In section C.
*काका -- नियोर गुरजी बोर आन्दुर*
अंकल : तुम्हारे 
कक्षा अध्यापक कौन हैं?
Uncle : Who’s your class teacher?
*सोनु-- तिरुमाल पाठक मावोर गुरजी आन्दुर*
सोनू : श्री पाठक हमारे कक्षा अध्यापक हैं.
Sonu : Mr. Pathak is our class teacher.
*काका -- वोर मिकुन बति करिहतान्तोर*
अंकल : वह तुम्हें क्या पढ़ाते हैं?
Uncle : What does he teach you?
*सोनु --बोर माकुन विग्यान करिहान्तोर*
सोनू : वह हमें विज्ञान पढ़ाते हैं.
Sonu : He teaches us Science.
*काका --मिया वर्गा ते बचोक लोकुर्क मंतोरक*
अंकल : तुम्हारी कक्षा में कितने छात्र हैं?
Uncle : How many students are there in your class?
*सोनु --मन्सयुं लोकुर्क मंदोरक*
सोनू : 35 छात्र हैं. 
Sonu : There are 35 students.
*काका--मिया वर्गा ते पाटले बद मंदा*
अंकल : तुम्हारी कक्षा का मॉनिटर कौन है?
Uncle : Who is your class monitor?
*सोनु-- सुभम गुप्ता*
सोनू : शुभम् गुप्ता.
Sonu : It’s Shubham Gupta.
*काका --मिया वर्गा तोर सोबाय चकोट विद्यार्थी बोर मंदोर*
अंकल : तुम्हारी कक्षा का सबसे अच्छा विद्यार्थी कौन है?
Uncle : Who is the best student of your class?
*सोनू : रचना कोहली.*
सोनू : रचना कोहली.
Sonu : It’s Rachna Kohli.
*काका--नियोर सब्बोय ते पक्को संगी बोर अांदुर*
अंकल : तुम्हारा सबसे पक्का दोस्त कौन है?
Uncle : Who is your best friend?
*सोनु--प्युषे आंदुर  नावोर पक्को संगी*
सोनू : पीयूष ही मेरा सबसे पक्का दोस्त है.
Sonu : It’s Piyush who is my best friend.
*काका --निमे गोटुल बाहची हंतोनी*
अंकल : तुम स्कूल कैसे जाते हो?
Uncle : How do you go to school?
*सोनु--काल गाडा ते*
सोनू : साइकिल से.
Sonu : By cycle.
*काका--निया शउक बती मंदा*
अंकल : तुम्हारे शौक क्या है?
Uncle : What are your hobbies?
*सोनु--काका नाकुन किरकेट अनी नेट ताकसिना बिचार वांता*
सोनू : अंकल, मुझे क्रिकेट खेलना और इंटरनेट चलाना पसंद है.
Sonu : Uncle, playing cricket and surfing internet.
*काका --अनि निमा मुन्ने हंती बताी बने मायना चाहे मान्तोन*
अंकल : और भविष्य में तुम क्या बनना चाहते हो?
Uncle : And what do you want to be in future?
सोनु--नना मित्ताल बने मायका
सोनू : मैं डॉक्टर बनना चाहता हूँ.
Sonu : I want to be a doctor.
*ते निकुन बेसे करिया लागर*
अंकल : तब तो तुम्हें बहुत पढाई करनी चाहिए.
Uncle : Then you will have to study hard. 
*इंगो काका*
सोनू : जी अंकल.
Sonu : Yes uncle.
>उकाल = काका<

*Chapter-3 (Conversation)*
Buying a shirt (कमीज़ खरीदना कि बातचीत)
*मापी कीम*
Ajay:माफ़ कीजिये
Excuse me.
*जय सेवा नना निया लासी बती किया फरितना*
Akki:नमस्ते श्रीमान, क्या मैं आपकी मदद कर सकता हूँ?
Hello sir, may I help you?
*इंगे  बति नना अद आल्मारी फरोटा मनिला हुड़ी फरितोना*
Ajay:जी हाँ, क्या मैं उस ऊपर वाले अलमीरह का कमीज़ देख सकता हूँ?
Yes. Can I see that shirt onthe top shelf please?
*खर्रोय इदु बिम*
Akki:बिलकुल. यह लीजिये.
Sure. Here it is.
*इदुना बति भाव*
Ajay:इसकी क्या कीमत है?
How much does it cost?
*सयुं नुर रुपयां*
Akki:पांच सो रूपये 
500rs.
*सयुं नुर बेस लगित मंदा*
Ajay:पांच सो. वह तो बहुत ज्यादा है
500rs. That's too much.
*इद बाहची मंदार इद सेल मुन्ड नुर सयूं ना लासि आन्द*
Akki:यह कैसा रहेगा? यह सेल पर है सिर्फ ३५० के लिए.
How about this one? It's onsale for only 350rs.
*नाकुन अद बिचार मन्ता*
Ajay :मुझे वह पसंद नहीं है.
I don't like that one
*करियाह कय मोजां ना कचु टा बाहची मंदार अद निया झदा सां सोभे मायार*
Akki :काले दस्तानों के पास वाला कैसा रहेगा? वह आपके पसंद के कमीज़ से बहुत मेल खाता है
How about the one next tothe black gloves? It's verysimilar to the one you like.
*वारे सोबाय मंदा बचोक ना आंद*
Ajay :वह अच्छा है. वह कितने की है?
That's nice. How much is it?
*मुंद नुर*
Akki :तीन सो
300rs.
*इद बेस मंदा*
Ajay :वह ठीक है
That'll be fine.
*इद रंगु बेस मंदार निमे दिसरो रंगु बिचर केकी*
Akki :क्या यह रंग ठीक है या आप अलग रंग पसंद करेंगे?
Is this color OK, or would youlike a different color?
*अद निलल वाले बेस मंदार*
Ajay :वह नीला वाला ठीक रहेगा
That blue one's fine.
*निकुन इदुन ल्हकटा झगा लागर*
Akki :क्या आपको इसके जैसे और कमीज़ चाहिए?
Do you need any more ofthese shirts?
*इंगो*
Ajay :हाँ
Yes.
*निकुन बचोक लागानुं*
Akki :आपको कितने चाहिए?
How many do you want?
*नना रंड असका उंदी रेंगाल अनी पंडरी*
Ajay :मैं और दो लूँगा - एक लाल वाला और एक सफ़ेद वाला
I'll take two more, a red oneand a white one

(Conversation)>>>>>>>>
Choosing a time to meet (मिलने के लिए समय चुनना कि बातचीत)
*निमा ना सां नर्का गाटो तिंदाकी बा*
Netam ji:कुजाम जी, क्या तुम मेरे साथ रात का खाना खाओगे?
Kunjam ji, would you like tohave dinner with me?
*इंगो अद बेस आयर निमे बसके हंदीना बितार केकी*
Kunjam ji:हाँ, वह अच्छा रहेगा. तुम कब जाना चाहते हो?
Yes. That would be nice.When do you want to go?
*नेंड बेस आयर*
Netam ji:क्या आज ठीक रहेगा?
Is today OK?
*मापी किम नना नेंड वाया फरोन*
Kunjam ji:माफ़ कीजिये. मैं आज नहीं जा पाऊंगी
Sorry, I can't go today.
*नाड़ी नर्का बाहची मंदार*
Netam ji:कल रात कैसा रहेगा?
How about tomorrownight?
*बेस मंदा बचोर नेके*
Kunjam ji:ठीक है. कितने बजे?
Ok. What time?
*नर्का नरुंग नेके बेस मंदार बा*
Netam ji:क्या रात के नौ बजे ठीक रहेगा?
Is 9:00PM all right?
*नाक लागिता का बेसे टेम असियार*
Kunjam ji:मुझे लगता है कि वह बहुत देर हो जायेगी
I think that's too late.
*नर्रका सारुं नेके बेस मंदार बा*
Netam ji:क्या शाम के छ: बजे ठीक रहेगा?
Is 6:00PM OK?
*इंगो अद बेस मंदा निमे बेगे हंदाकी*
Kunjam ji:हाँ, वह अच्छा है. आप कहाँ जाना चाहते है?
Yes, that's good. Wherewould you like to go?
*सयुंग तिगे इटालियन रेस्तौरांत ते*
Netam ji:5th Street पर इटालियन रेस्तौरांत में
The Italian restaurant on5th street.
*ओहो नाकुन अद रेस्तौरांत बिचार वायो नाक अगे हंदा वसो*
Kunjam ji:ओफो, मुझे वह रेस्तौरांत पसंद नहीं है. मैं वहाँ नहीं जाना चाहती.
Oh, I don't like thatRestaurant. I don't want togo there.
*अदुना कचुटा कोरियन रेस्तौरांत बाहची मंदार*
Netam ji :उसके पास वाला कोरियन रेस्तौरांत कैसा रहेगा?
How about the Koreanrestaurant next to it?
*बेस नाकुन अद जागा बिचार वाता*
kunjam ji :ठीक है, मुझे वह जगह पसंद है
OK, I like that place

(Conversation) >>>>>>

How are you ? (आप कैसे/कैसी है? कि बातचीत)
*जय सेवा अजय*
नमस्ते अजय
Hello Ajay .
*जय सेवा कुंजाम रोय*
नमस्ते कुञाम जी
Hi kunjam ji.
*निमे बीहची मंदोनी*
आप कैसे है?
How have you been?
*वल्ले चकोट सिल्ले*
बहुत अच्छा नहीं
Not too good.
*बतिलाय*
क्यों?
Why?
*नकुन अड़की मंदा*
मैं बीमार हूँ
I'm sick.
*नाकुन केंजसिकुनाल होंग आत*
मुझे सुनकर अफ़सोस है
Sorry to hear that.
*बतिय पोल्लो सिले अद वल्ले गम्बिर सिले*
कोई बात नहीं. वह ज्यादा घम्बीर नहीं है.
Its OK. Its not serious.
*निया सेड़ो बाहची मंदा*
बहुत अच्छा. आपकी पत्नी कैसी है?
That's good. How's yourwife?
*अद चकोट मंदा*
वह अच्छी है
She's good.
*बति अद रायपुर ते मंदा इदेके*
क्या वह अब रायपुर में है?
Is she in Raipur now?
*हिले इदेक वरी अद इगे सिल्ले*
नहीं, अभी तक वह यहाँ नहीं है
No, she's not here yet.
*अद बेगे मंदा*
वह कहाँ है?
Where is she?
*अद कांकेर ते मंदा छव्वां सां*
वह कान्केर में हमारे बच्चों के साथ है
She's in kanker  with ourkids.
*बेस नाकुन इदेके हंदी लागर निवा सेड़ोन इनकी तान जय सेवा इत्तना*
अच्छा. मुझे अब जाना होगा. आपकी पत्नी से कहिये कि मैंने उनको नमस्ते कहा.
I see. I have to go now.Please tell your wife I saidhi.
*बेस मंदा नना निया सां पजाटे वड़कीका*
ठीक है, मैं आपसे बाद में बात करता हूँ.
OK, I'll talk to you later.
*नाकुन आशा मंदा निकुन बेसे लागर
मुझे आशा है कि आप बेहतर महसूस करेंगे
I hope you feel better.
*सेवामाम*
शुक्रिया
Thanks.

जय सेवा जोहार गोंडी पाटा>>>>>
केंजा केंजा रो कोयवासी दादा ,
परसापेन ता पुईजा कियाना ।
पुईजा किसी लिंगो बाबा ना,
गोंडी पुनेम माने मायना ।।
अदे कली कंकाली आन्दु मावा वाहे यायालें ।
पाल पोस किये आन्दु जंगवेन रायताले ।।
इमा संभू गवरा ना सेवा कियाना
सेवा किसी लिंगो बाबा ना ।
गोंडी पुनेम माने मायना ।।
अदे कोयली कचाड़ आन्दु मावा पेन पुरताले ।
पन्दू दोमान पुनवा नेटी हंदाना पुईजा कियाले ।।
इमा सल्लं पेनता सेवा कियाना
सेवा किसी लिंगो बाबा ना 
गोंडी पुनेम माने मायना ।।
अदे कजली डंगुरता सावरी मड़ा नेली ।
लिंगो बाबा ना पुटसि कोया सूर वेली ।।
इमा पेन कड़ाता सेवा कियाना ।
सेवा किसी लिंगो बाबा ना 
गोंडी पुनेम माने मायना।।

*आपलो लोतोर लोकुरक ना बारेत ते वेहिना>>>
Introducing your family.
अपने परिवारजन का परिचय ।
*जय सेवा*
नमस्ते
Hello !
*निमे बाहची मंतिन*
आप कैसे हैं ?
How are you?
*चकोट मंदोना*
मैं ठीक हूँ |
I am fine.
*धन्नेई*
धन्यवाद
Thank you.
*इद बती आंदु*
यह क्या हैं ?
What is this?
*इदु लिखनी आंदु*
यह पेन हैं |
This is a pen
*येर बोर आन्दुर*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*येर नावोर दादाल आन्दुर*
यह मेरा भाई है |
He is my brother.
*इद बद आन्दु*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*इद नावा सेलाड़ आन्दु*
यह मेरी बहन है |
She is my sister.
*येर बोर आन्दुर*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*येर नावोर बाबो आंदुर*
यह मेरे पिताजी है |
He is my father
*इद बद आंदु*
यह कौन हैं ?
Who is he/she?
*इद नावा यायाल आंदु*
यह मेरी माँ है |

* Chapter-5 (Conversation)>>>

Phone in the office (दफ़्तर में फ़ोन कि बातचीत)
*जय सेवा*
Ajay :नमस्ते?
Hello
*जय सेवा अगे अजय मंदोर बा*
Babita:नमस्ते, क्या वहाँ अजय है?
Hi, is Ajay  thereplease?
*इंगो बोर इन्तोर*
Ajay :हाँ. कौन बोल रहे है?
Yes. Who's calling?
*बबिताल*
Babita:बबिता
Babita.
*शुदो उंदी मिचका पोसा*
Ajay :ज़रा एक मिनट
One moment please.
*बेस मंदा*
Babita:ठीक है
OK.
*Jai sewa*
Ajay :नमस्ते?
Hello?
*jai sewa ajay नना बबिता वड़कीतना*
Babita:नमस्ते अजय, मैं
बबिता बोल रही हूँ
Hi Ajay , it's Babita.
*jai sewa babaita*
Ajay :नमस्ते बबिता
Hi Babita.
*इदेके निमे बती कीया*
Babita :अब आप क्या कर रहे है?
What are you doing now?
*नना कयुम किया*
Ajay :मैं काम कर रहा हूँ
I'm working.
*निमे बुतो ते मंगोनी बा*
Babita :क्या आप व्यस्त है?
Are you busy?
*इंगो नेंड नेटी मेन बुतो ते मनका*
Ajay :हाँ. आज पूरा दिन बहुत व्यस्त रहा है
Yes. It's been really busyhere all day.
*निमे बचोह मोका बुतो तल छुटे मायितनी*
Babita :आप कितने बजे काम से छूटते है?
What time do you get offof work?
*अरुंग नेकसी मरूं मिटका नेके*
Ajay :साढ़े आठ बजे
8:30PM
*नना निकुन अरुंग नेकसी मरूं मिटका नेकताल पजा उंडे कयका**
Babita:मैं आपको साढ़े आठ बजे के बाद वापस बुलाऊंगी
I'll call you back after8:30PM
*बेस मंदा निया सां पजाटे वड़कीका*
Ajay :ठीक है. आपसे बाद में बात करता हूँ
OK. Talk to you later.
*मल्ले भेटे मायकाट*
Babita अल्विदा
Bye bye.

* सामान्य वाक्य >>>

नावा देसते बोर राज कियानुर*
मेरे देस मे कौन राज करेगा?

*नावा नाटे कोयतोर राज कियानुर*
मेरे गांव मे गोंड राज करेगा!
*निया नाटे बोना पाटा वारीतरिट*
तुम्हारे गांव किसके गित गाते हो?
*नावा नाटे कोयतोर पेन्क ना पाटा वारी*
मेरे गांव मे गोंड देवाों के गित गाते हैं !
*निमा अनी नना रंडे*
तुम व मैं दोनो
*नावा कचुल मंदा*
मेरे पास है
*रंडे नुल्पे मोका करसकाट*
दोनो शाम को खेलेंगे
*मावा रोन कचुल कचुल मंदा*
हमारा घर पास पास हे !
*नाकुन सुंजी वसता*
मुझे निंद आरही है!
*सकाड़ आतु तेदा*
सुबह हो गई उठ जावो
*निकुन येर कियाना सिले बा*
तुम्हें नाहाना नहिं हे क्या?
*नाकुन उंडे सिम ना*
मुझे भी दो ना 
*सिय्योन*
नहिं दुंगा/दुंगी
*ओन वेहचीकी*
उसे बता देना
*नना वेहोन बती उंडे वेहका*
मैं नहि बताता क्या बताउंगा
*हिक्के वड़ा*
इधर आवो 
*हक्के हन*
उधर जावो
*हक्के दा*
उधर चलो
*निमा वायवी बा*
आप नहिं आ रहे क्या
*निमे उंडे दय*
आप भी चलो

* गोंडी शब्दकोष >>>
*Most Common Words (सबसे अधिक प्रयोग किए जाने वाले गोण्डी शब्द और शब्दावली)*

*छव्वा*
baby
बच्चा
*मल्ला*
back
वापस
*नड़ी*
back
कमर
*मैलो*
bad
बुरा/बुरी
*झोरा*
bag
थैला
*चेंडु*
ball
गेंद
*केरे*
banana
केला
*बेंक*
bank
बैंक
*येर कियाना*
bathe
नहाना
*मैदन कोली*
bathroom
शौचालय
*आईना*
be
होना
*जाटा*
bean
सेम
*दाडी*
beard
दाड़ी
*सोबा ता*
beautiful
खूबसूरत
*बतिलाय का*
because
क्योंकि
*बनेमायना*
become
बनना
*कटुल*
bed
बिस्तर
*सुंजिना कोली*
bedroom
शयनकक्ष
*ठालल हविं*
beef
गाय की मांस
*मुन्ने*
before
पहले
*मोहतुर आयना*
begin
शुरू होना
*मोहतुर केवाल*
beginner
शुरू करनेवाला
*पज्जा*
behind
पीछे
*इस्वास कियाना*
believe
यकीन करना
*ता कचुल*
beside
के बाजू में
*समदिरते सोबाय*
best
सबसे अच्छा
*शरेत*
bet
शर्त
*चकोट तल*
better
बेहतर
*नड्डुम ते*
between
के बीच में
*काल गाडा*
bicycle
साइकल
*डगरो*
big
बड़ा
*पिट्टे*
bird
चिडिया
*फुट्टीना नेटी*
birthday
जन्मदिन
*नर्किना*
bite
काटना
*करियाल*
black
काला
*गमड़ी*
blanket
कम्बल
*मेंदुल*
body
शरीर
*पुस्कम/बोई*
book
किताब
*उदार येतिना*
borrow
उधार लेना
*रंट्टो*
both
दोनों
*बाटेल*
bottle
बोतल
*बुट्टी*
bowl
कटोरा
*डब्बा*
box
बक्सा

*सिन्नूम*
bracelet
कंगन
*अक्केल*
brain
दिमाग
*हारी*
bread
रोटी
*काट*
break
तोड
*मोसोर ते वड़ी येतिना*
breathe
सांस लेना
*पाढ़ी*
bridge
पुल
*तरिना*
bring
लाना
*उरिंगत्तु*
broken
टूट गया
*दादल*
brother
भाई
*पंडरा*
brown
भूरा
*बरस*
brush
ब्रश
*चेलना*
bucket
बालटी
*नैसर पुनेम तुन फनवाल*
gondian
प्रकृति धर्म को जानने वाला
*बनेकियान*
build
बनाना
*पत्तिना*
burn
जलना
*मति*
but
लेकिन
*मक्केन*
butter
मक्खन
*अस्सी*
buy
खरीद

* Time (समय) का महत्व के लिए वाक्य >>>

*निमा बचोर बेरा तेदान्तिन*
1. आप कब उठते हैं?
When do you get up?
*शिस्यल कुन गद ने तेदिता होना*
2. विद्यार्थियों को सुबह ज़ल्दी उठना चाहिए.
Students should get up early in the morning.  
*नेंड बत्ति अंकुमान मंदा*
3. आज क्या तारीख है?
What’s the date today?
*निमे बेरो ता पुरो बूतो ते तत्तेक हन*
4. अपने समय का पूरा उपयोग करो.
Make the best use of your time.  
*नावा घड़ी हरगन पद मिटका मुन्ने मंजी मनता*
5. मेरी घड़ी रोज़ दस मिनट आगे हो जाती है.
My watch gains ten minutes daily.  
*ओना फट्टिनी नेटी बसके आयिता*
6. उसका जन्मदिन कब होता है?
When is his/her birthday?
*नाकुन अगे नालुंग नेके अव्विना मंदा*
7. मुझे वहां चार बजे पहुंचना है.
I have to reach there by 4 o’ clock.  
*बेरो उम्मेस मांहगो मंदा*
8. समय कीमती है.
Time is precious.  
*नाकुन लागिता निमे बेरो ता नास कियातनि*
9. मुझे लगता है आप अपना समय नष्ट कर रहे हैं.
I think you are wasting your time.  
*गांधी उंदी मिटका तोर पाबंद मत्तोर*
10. गांधीजी एक-एक मिनट के पाबंद थे.
Gandhiji was punctual to the minute.  
*माकुन उन्दी घटका ता झेरी आसिता*
11. हमें एक घंटे की देरी हो गयी है.
We’re late by an hour.
*सबे सामेन ता सई बेरो आईता*
12. हर चीज़ का सही समय होता है.
Theirs is a time for everything.   
*हत्ताल बेरो बसकेय कयदे वायो*
13. गया वक़्त हाथ नहीं आता.
Time once lost can never be regained. 
*सुजिना बेरो आसित*
14. सोने का समय हो गया है.
It’s time to sleep.
Or
It’s time to go to bed.   

*पद नेकिना हुडुकसा मुन्ने*
15. दस बजे से थोडा पहले.
A little before ten.  
*बचोर नेकता*
16. क्या बजा है?
Time please



* Diet (आहार एवं खान-पान) >>>

*नाकुन कर वस्ता*
1. मुझे भूख लग रही है.
I’m feeling hungry. 
*निमे  करु मंतिन*
2. आप भूखे हैं.
You’re hungry.
*छव्वा तुन येर उंडा वसता*
3. शिशु (बच्चा) प्यासा है.
The baby is thirsty.
*माकुन येर उंडा वसता*
4. हमें प्यास लग रही है.
We’re feeling thirsty.
*निमे धुपाड़ ता जावा ते बति येलकी*
5. आप दोपहर के भोजन में क्या लेंगे?
What would you like to have in lunch?
*नास्ता बने मातु बा*
6. क्या नाश्ता तैयार है?
Is the breakfast ready?
*चाहा येतकी बा निमे*
7. क्या आप चाय लेंगे?
Will you have tea?
*नाकुन उंदी कोप काफी सिम*
8. मुझे एक कप कॉफ़ी ला दो.
Get me a cup of coffee.
OR
Bring me a cup of coffee.  
*शुदो असा येता*
9. थोड़ा और लीजिये.
Please have a little more. 
*बास सिकरेट उंटोर बा*
10. क्या बॉस सिगरेट पीते हैं?
Does the boss smoke cigarette?
*हिले ओन रजनिगंधा तिन्तोरक*
11. नहीं, वह रजनीगंधा खाते हैं.
No, he chews Rajnigandha.  
*नाकुन सुदो चटनी पईहा*
12. ज़रा, मुझे अचार पकड़ाइए.
Please pass me pickle. 
*ईद मिले मातल चटनू बा*
13. क्या यह मिक्स्ड अचार है?
Is it mixed pickle?
*हिले मरका चटनी मंदा*
14. नहीं, यह आम का अचार है?
No, it’s mango pickle.
*आप्पुने तिन*
15. अपने आप खाइए.
Please help yourself.  
*निमे सव्विं तिनवाल बा*
16. क्या आप मांसाहारी हैं?
Are you a non-vegetarian?
*हिले नना सव्विं बिन तिनवाल आन्दान*
17. नहीं, मैं शाकाहारी हूँ.
No, I’m a vegetarian.
*नेंड नर्का होटेल ते जावा उनकाट*
18. आज रात हम होटल में खाना खायेंगे.
We shall have our dinner at hotel tonight. 
*छव्वां नुं जावा सां पाल उंडीना होना*
19. क्या बच्चों को खाने के बाद दूध पीना चाहिए?
Should children take milk after dinner?
*तोस तिगे मक्केन तरा*
20. ब्रेड पर मक्खन लवो
Please butter the slice of bread.  
*निमे बेसे लेहड़ाल मंदनी*
21. तुम बड़े पेटू हो.
You’re a glutton.  
*निमे बतिय गेला येतवि*
22. आप ने तो कुछ लिया ही नहीं.
You hardly took anything.
*जावा ता बेरो आसित*
23. खाने का समय हो गया है.
It’s dinner time.  
*नुल्पे मोका ता चाहा संग्गेय उनकी*
24. शाम की चाय हमारे साथ पीजिये.
Please have your evening tea with us.  
*जावा ते बतिय गोड़ उंडे मंदा बा*
25. क्या खाने में कुछ मीठा भी है?
Is there any dessert after dinner?
*नालुंग साड़ीग लगित मंदा*
26. चार रोटियाँ मेरे लिए काफ़ी हैं.
Four chapatis are enough for me.
*नाकुन नुक्का ले वल्ले साड़ीं लागितां*
27. मुझे चावल से ज्यादा रोटी पसंद हैं.
I prefer chapatis to rice.  
*शुदो जोम्मा उंडे सिम*
28. थोड़ा रसा (तरी) और लें.
Please have some more gravy.  
*नाकुन मसेला वाले जावा बिचार मंदा*
29. मुझे मसालेदार खाना पसंद नहीं है.
I don’t like spicy food.
*हुडुक्सा शक्केर  सिम*
30. थोड़ी चीनी मिलाइए.
Please add some sugar.
*उंदी चुटकी सव्वोड़ सिम*
31. एक चुटकी नमक दें.
A pinch of salt please.
*निमा वेतां नुक्कां तिनकी का बोड़स्तां*
32. आप उबले चावल लेंगे या भुने हुए?
Would you take boiled or fried rice?
*नावोर मर्रिन माटींगअट्तांग बिचार वाईता*
33. मेरे बेटे को कन्द  व्यंजन पसंद है.
My son is fond of kanda dishes.  
*जावा ते माटींग अजिबात मंदां*
34. खाने में सलाद बहुत ज़रूरी है.
Salad is necessary with lunch and dinner.  
*शुदो नाकसी हुड़ा*
35. ज़रा चखकर देखो.
Just taste it.
** वाक्य गोंडि + हिंदी >>>
** वर्तमान काल >>> 
१-नाकुन उंदी चुडुर केरे सिम !
 _मुझे एक छोटा केला दिजिये_
*भुत काल*
१-नाकुन उंदी चुडुर केरे हिसी !
 _मुझे एक छोटा केला दिये_
*भविष्य काल*
१-नाकुन उंदी चुडुर केरे सेकी !
 _मुझे एक छोटा केला दिजियेगा_
*वर्तमान काल*
२-हिले नना सिय्योन
_नहिं मैं नहिं दुंगा_
*भुत काल*
२-हिले नना सेवाके
_नहिं मैं नहिं दिया था_
*भविष्य काल*
२-हिले नना सेका
_नहिं मैं दुंगा_
*वर्तमान काल*
३-बतिलाय सेवी
_क्यों नहिं द रहेे_
*भुत काल*
३-बतिलाय सेवाके
_क्यों नहिं दिये थे_
*भविष्य काल*
३-बतिलाय सेवी आयकी
_क्यों नहिं दोगे_
*वर्तमान काल*
३-नना कयुम दे हंदा
_मैं काम पर जा रहा हु_
*भुत काल*
३-नना कयुम दे हंजि मतना
_मैं काम पर गया था_
*भविष्य काल*
३-नना कयुम दे दाका
_मैं काम पर जाउंगा_
*वर्तमान काल*
४-बाड़ी वड़कवी
बोलते क्यों नहिं 
*भुत काल*
४-बाड़ी वड़कवी आंदी
बोलते क्यों नहिं बोल रहे थे
*भविष्य काल*
४-बाड़ी वड़कवी आयकी
बोलोगे क्यो नहिं
*वर्तमान काल*
५-नना फुन्तोना 
मैं जानता हुं
 *भुत काल*
५-नना फुन्जिमतोना
मैं जानता था
*भविष्य काल*
५-नना फुन्का 
मैं जानुंगा



** गोण्डी + हिन्दी + English >>>

Instruction / Order (आदेशवाचक)
*ओर्कुन बस स्टेंड वरी छुटे कीसी वरा*
1. उन्हें बस स्टैंड तक छोड़ आइए.
Please see them off at bus stand.
*इद सुटेर करसी हुड़ा*
2. यह स्वेटर पहन कर देखो.
Try this sweater.
*उंदी रिक्सा बिसी तरा*
3. एक रिक्शा ले आओ.
Get a rickshaw.
*ओर्कुन रप्पो तरा*
4. उन्हें अन्दर ले आओ.
Bring them in.
*बन्ने हुड़सी ताका*
5. संभल कर चलो.
Walk carefully.
*नाकुन नालुंग नेके तेहचिकी*
6. मुझे चार बजे जगा देना.
Wake me up at 4 o’ clock.
*पर्दा विस्कसिम*
7. पर्दा खींच दो.
Draw the curtain.
*लिंबु तुन येर तिगा पिरा*
8. पानी में नींबू निचोड़ो.
Sqeeze lemon in the water.
*शामा आम*
9. तैयार हो जाओ.
Get ready.
*बस्केय तिंदान तिके ताका*
10. सदा बांयी तरफ चलो.
Always keep to the left.
*कल उनमा*
11. शराब मत पियो.
Don’t drink.
*मरिजे ता धियान ईरकी*
12. मरीज़ का ध्यान रखना.
Take care of the patient.
*इदुन लिवे किसी येता*
13. इसे लिख लो.
Write this down.
*इदुन इरा*
14. इसे रखो.
Have patience.
*निम्माय तिन*
15. तुम्ही खाओ.
Eat yourself.
*लिखनी ते लिवे केमा*
16. पेन से मत लिखो.
Don’t write with a pen.
*आपुनां कयक नोरा*
17. अपने हाथ धोओ.  
Wash your hands.
*निया चेहेरा उमसा*
18. अपना चेहरा पोंछो.
Wipe your face.
*साही ते लिवे किम*
19. स्याही से लिखो.
Write in ink.
*किरपटास केमा*
20. बकवास मत करो.
Don’t talk non-sense.
*फड़ीया ते टोड्डी उमसा*
21. तौलिये से मुँह पोंछो.
Wipe the face with towel.

** प्रश्नवाचक शब्द >>>
 *Gondi।  = Hindi.  =  English
*निया बताल पोरोल*
तुम्हारा नाम क्या है ?
What is your name?
*नावा पोरोल पीटर मंदा*
मेरा पीटर है ?
My name is Peter.
*अनी निया*
और तुम्हारा ?
and yours ?
*नावा पोरोल मोनिका मंदा*
मेरा नाम मोनिका है |My name is Monika.
*निमा बेगे मंत्तोनी*
तुम कहाँ रहते हो ?Where do you live?
*नना कांकेर ते मंतोना*
मैं कांकेर में रहती हूँ |I 
live in kanker
*ओर बोर आन्दुर*(for male)
*अद बद आन्दु*(For female)
वह कौन है?
Who is he/she?
*ओर नावोर संगी आन्दुर*
वह मेरा दोस्त है |
He is my friend.
*ओर हिक्के बतीलाय वातुर*
वह इधर क्यूँ आया है ?
Why did he come here?
*वोर हिके करिनलाय वातुर*
वह इधर पढाई करने आया है |
He came here to study.
*ओन cg बिचार वानता बा*
उसे cg पसंद है क्या ?
Does he like cg?
*इंगे ओन छ ग बिचार वाता*
हाँ, उसे छ.ग.पसंद है | Yes, he likes cg .
*ओर अमेरिकी बसके हन्दानुर*
वह अमरिका कब जाएगा ?
When will he go to America ?
*ओर अमेरिका दिसरो मान हंदानुर*
 वह अमरिका अगले हफ्ते जाएगा |
He will go to America next week.

-_आदेश वाचक शब्द_-
** गोंडी + हिंदी >>> 
तिन|  = खाओ.eat
हन    = जाओ.   go
वड़ा   = आओ.   come
उद्दा    = बैठो  sit
सुड़ा    = देखो      see
सिम     = दो give
इममे     = तुम्हे
इम्मा     = आप
इम्मा      = तुम
इम्माट    =  तुम ( जोर देकर )
सर्री     =   रास्ता
अगेडाल  =  यहाँ से
बगेडाल  =  कहा से
वायका =  आऊंगा
वायकी  =  आऊँगी।
गाटो    =  भात
पर्याक   =  चावल
जावा    =  भोजन
बच्चोंग   =  कितना
बेरो        =  समय
रोन         =  घर
उंडे/ अनि  = और
नावोर शेलाड  = मेरी बहन
नावा तममु     =मेरा भाई।
तुन/कुन   = को
वललेंग   =  बहुत

गोंडी + हिंदी >>>
बति किया निमे = क्या कर रहे हो आप 
रवि बेगे हत्तुर  =  रवि काहां गया
ओर कयुम दे हत्तोर =वो काम पे गया है
वचोर मोका वायनुर  = कितने समय आयेगा
धुपाड़े वायनुर   =  दोपहर को आयेगा
रोते बोर बोर मंदोर  = घर पर कौन कौन है
नना अनि नावा सेलाड़ मंदा = मै और मेरी बहन है
रविन वेहकी नना वासि इंजी  = रवि को बताना मै आया था करके
निकुन रविन लासि बति कयुम मत्ता = आपको रवि से क्या काम था 
रविन जत्रा हुड़ीले ओयका इ़न्दान  = रवि को मंडई देखने लिजाउंगो कह रहा था
निमे जत्रा हुड़ीले हंदी बा  =  तुम मंडई देखने जा रहे हो क्या 
ना लसी बटी तकी = मेरे पास
नालय बत्ती
इंगे ततका = हा लाउंगा
नना निवा सिरी हुड़का = माली राहुगी
निमे अगदल्बके वायकी = वह से आप कब आव 
नाड़ी धो वायका = कल कल आउंगा
नना रोतेने मनका नड़ी = मै कल घर पे हीरुंगी 
नीव जीत आतु बा = भोजन हो गया 
इंगे सापां ना कुसरी तित्तान = हा भाटा सबजी खाइ 
निमे गाट जीतीटंकी बा = भोजन खावड़
हले नना रोतल तिंजी वटना माहीजी केरिल चकना = नहि मै घर से खाकर हू हमारे घर की सब्जी की सब्जी 
जिह्वाँवी ते चाँचा अण = भोजन नहि तो चीनी भी पिलो 
सो बाय ता बने रहने वाला =
*बतिबला बाबरी वैवी*
_क्यों नहिं/रही_

*बसके दास*
_कब__

*बोर बोर वायितोर*
_कौन कौन हैं
*हिद गाड़ा बौना अंदु*
_इट्टाबाड़ी किलकी है_
*नवल आन्दु*
_मेरा है_
*येर्क टुड़ी -टुड़ाल बोर्क आन्दुरक अनी बेगे हंन्तोरक*
_ये लड़की लड़के कौन है और काहां जा रहे हैं_
*येर नावोर संगी अनी इद नावा सांगो आन्दु*
_ये मेरा संगी(मामा का लड़का) और ये सांगो (मामा की लड़की) है_
*नाटे हन्तोरक*
_गांव जा रहे हैं_
*बतिलाय वासी ते*
_क्यों आये थे तो_
*नावा सोबत भेटी मायले वासी मत्तोरक*
_मुझसे मिलने आये थे_
*हिक्के वड़ा*
_इधर आओ_
*नेटा नेटी सोबाय हत्तु*
_आज का दिन अच्छा गया
*निमे बती कियातोन*
आप क्या कर रहे हो?
*बतिय हिले*
कुछ नहीं।
*निमे कोयतोरिंग फुन्तोन ?*
क्या आप gondi जानते हो।
*इंगे*
हां....
*निमे बद नाटे नल अान्दी*
आप कोन से गाव से है 
*निया करिना पुरो आतु बा*
आपकी पढाई पुरी हो गई?
 *हिले*
नही।
*ते निमे बद वर्गा ते मन्तोन*
तो आप कोनसे कक्षा में है?
*नना bsc 2 वर्गा ते मंदोना*
मे बीएससी २ nd  वर्ष में हु।
*निवा करियाना बाहची ताकिता*
तो आपकी  पढाई कैसे चल रही है ?
*बेस चकोट ताकीता*
१.बहुत अच्छा चल रहा है।
*हालेत बिगड़े मासिता*
२.बहुत बुरा हाल है।
*नाकुन गनित ते शुदो पेरेसानी मंदा*
मुझे गणित मे थोडी परेसानी है।
*इंगे bsc ता गनित हुडुक्सा कटिने मंदा*
हां Bsc का गणित थोड़ा कठिन है
*इदुन कोयतोरिंग ने वेहा*
इसका आप gondi में बताओ 
** गोंडि + हिंदी>>>
*निन्मे किस्कतेके अद बुच्ची अडान्ता*
अगर आप चिमटी करोगे तो बच्ची रोयेगी !
*ओन कोरुम आता मती ओन बस पुड़ता*
हालांकी देर हो चुकी थी फिर भी उसे बस मिली
*मोका पिर वातेके डिवड़ालिर मिन्क बियले हंदानुरक*
यदि बारिश होगी तो मछुवारे मछली पकड़ने जायेंगे
*बस्केने पिर वातेके मल्ल येन्दारु*
जब बारिस होगी मोर नि्रत्य करेंगे
*भाय पिर वाेतेक गेला खेतेदारल वावटे सोसुर*
भारी बारिस होने के बावजुद किसान खेत मे चले गये
*नना निन्ने उंदी टुड़ीन सिड़तान*
मैने कल एक लड़की को देखा
*बचोर सोबाय ता मन्ता अद जवान रैय्या*
कितनी सुन्दर है वह युवा लड़की 
*नना निकुन पद सावरी मुन्ने हुड़सी मतोना*
मैने तुम्हें दस साल पहले देखा था
 *बचोर बोड़सी सितोनी इमा*
कितना लम्बे हो चुके हो तुम
*नाकुन उंदी लिखनी असिना मंदा*
मुझे एक पेन खरिदना ह।

** गोंडि + हिंदी >>>
सेवामाम  = शुक्रीया
धन्नेय   =  धन्यवाद 
वल्ले /बेस  = बहुत
बाहुन गा सगालो = कैसे दोस्तो 
मै ठीक हूँ = नना बेस मन्दोना  
ईमाट बाहुन मंदोनीट = आप कैसे है ! 
इंदेके झूला झाकी आतुन  = अभी अंधेला होना लगा !

** गोंडी भाषा शब्दार्थ>>>
*वायाना*              =   आना
*निमे/निम /निमा*  = आप
*आपो आप*          = अपने आप
*मरका*                 = आम
*मोहरा ते वायना*   = आवायनामने सामने आना
*सेवा*                   =  आराधना
*रोमिना*                 =  आराम
*टेके मायना*            =  लदना
*कोडियल/कोडहीले* = आलसी
*लेंग*                   = आवाज /स्वर
*सुईमोद /आसदान* = आशिर्वाद
*आखाड़ी मान*  =  असाड़ महिना
*पिरगुलेल*        =    इन्द्रधनुस
*जम्मा*             =     इकठ्ठा
*जम्मा कियना*  =     इकठ्ठा करना

** गोंडि + हिंदी >>>
बांग कुसीर   =  क्या सब्जी
बांग कियानतोरीट। =  क्या कर रहे हो
बादाम रा   =   कैसे हो
निया बाता पोरोय  =  तुम्हारा क्या नाम
बगा हंजी            =   कहां गये थे
बाकया हंजी        =   क्यों गये थे
बागा डह आंदी    =   कंहा से हो 
गाटो                  =    भात 
पर्याक               =  चावल
कुसरी                = दाल
चखना               = सब्जी
कुसीर               =  सब्जी
मड़मिंग             =  शादी
लया                 =  लड़की
लेयोर               =  लड़का 
मडा़                =   पेड़
ईरूम               =  महुआ
मरका              =  आम
मड़दी              =  सहजा 
 रेका               =  चार  
गोरगा              =  सुर 
हींद                 =  छींद 

शब्दकोष>>>
*कोन्डा /कड* =   आंख
*रच्चा*           =   आंगन
*कानेर*          =   आंसु
*चिपड़ी*        = आंख की किचड़
*पोटांग*        =    आंत
*वरा/वड़ा*     =   आवो
*मारेग*          =  आखरी
*किस*          =   आग
*किस कोला* = आग की काडी
*उहकोना*     = फुंकना
*किस मासिना* = आग को जलाना
*मुन्ने*               = आगे
*ताकिना*          = चलना
*चटनी*             = आचार
*पिन्डी*            =  आटा
*आदेत*            = आदत
*अरदो*             = आधा

गोंडी हिंदी शब्दकोश >>>
*बाताले*    =    अनुपयोगी
*जिडो*      =    अपच
*मावंग*     =     अपना
*अभाव*    =      कमी
*जोहार कियाना* = अभिवादन करना
*इदेके*               =  अभी
*आउस*              = अमावस्या
*आउस ता नेटी*    = अमावस्या का दिन
*पोई*                   = अमिर आदमा
*विदुकि्रना*        = अर्पण
*वेग्रो*                = अलग 
*जुगाधन*          = अवधी
*अक्चके मायना*= आश्चर्य होना
*दिनमुड्गीना*     = सुर्यास्त होना
*हल्ले*               = अस्वीकार

## गोंडि + हिंदी >>>
*अद्दी तरता*  = धुप लगी है
*धड़मी ते उदा* = छांव मे बैठ जाओ
*हिले पिनी वस्ता* = नहिं ठण्ड लग रही है
*पिनी वस्ता ते सुटेर करा* = ठण्ड लगी है तो स्वेटर पहन लो
*येर कीती बा*  = नहा लिये क्या 
*हिले कियोने इदेके केका* = नहिं नहाया हु अभी नहाउंगा
*वेयने येर कीम हाटुम दाकीट* = जल्दी नहावो बजार जायेंगे
* गदले = जल्दी 
*बती असिले दाकाट हाटुम*    =  क्या लेने जायेंगे बजार
*चकनां नां ता लाई                =  सब्जीयों के लिये 

## गोंडि + हिंदी >>>
नेंड बदरो नेटी आन्दू =  आज कोनसा दिन हैं?
इदु सगाम बदरो आन्दूर  = यह महीना कोनसा हैं?
अपोलो मुठवापोय बोर आन्दू = अपने धर्मगुरु कौन है?
 नाकुन वेहा  =  मुझ को बताओ

@@ शब्दकोश >>>
*इंजे           - अतः*
*आदा         - अदरक*
*मानवाल     - आदमी*
*वल्लेय       - अधिक*
*तेहच          - अनाज पचरना*
*पैयवी         - अनाज घर*
*दाना           -  अनाज*
*मुरटीया       -  अनाथ*
*कोम वाताल - अंकुरित*
*चुडुर           - छोटा*

@@ गोंडि + हिंदी >>>
फर्रो        =   ऊपर
परो        =  ऊपर
पररो       = ऊपर
खाले      =  नीचे
आस पास = हेरे गुरे
सामने      = मुन्ने
नजदीक   = कचुल
जाना       = हंदाना
चलना      = ताकिना



शब्दकोश >>>
जय फड़ापेन = जय बड़ादेव
फडा            =  बड़ा
पेन               =  देव
पुनेम            =  धर्म
कोया            =  गोंडि
कोया वाक्य >>>
*जावा आतु बा* = खाना हुआ क्या
*जावा बसके आतु* = खाना कब हुआ
*गाटो जावा तित्ती बा* = खाना खाया क्या
*गाटो बसके तिनकट* = खाना कब खाएंगे
*गाटो अटसी आतु*   =  खाना बन गया 
*गाटो अटीले लागता* = खाना बनाना चाहिए
*गाटो अटा*            =  खाना बनाओ
 *गाटो तिंजी येता*   = खाना खा लो
*जावा सिसीम*        = खाना दे दो
*जावा सिम*            = खाना चाहिए
*जावा तलका*         = खाना माँगिये
*ओन जावा सिम*    = उसे खाना दो
*बोर बोर गाटो तित्तीट* = कोन कौन खाना खाया

( सगाओ हमारे भाषा के शब्द 100km दूरी के बाद कुछ कुछ शब्दो में परिवर्तन हुआ है| इसके लिए हमे सारे शब्दो को लेकर चलना है )

गोंडी + हिंदी>>>
समय बोधक शब्द >>>
मिन्द      =  छण
झपका घटका   =   पल
मिटका            =  मिनट
घटका             =  तास
नेटी                = दिन ,वार
यर्नेट               = सप्ताह
मान ,सगाम      = महिना
गणोम             = सत्र
साबरी              = वर्ष
पसारी              = दस वर्ष
नुसारी              = सौ वर्ष 
किरेस्तामुने        = इसा पुर्व
@@ वाक्य >>>
इम्मा बीती कियातोनी = आप क्या कर रहे हो
वेहची गेला जत्रा हुड़ीले दाका = बताया तो था मेला देखने जाउंगा

$$ वाक्य >>>
*फड़ापेन मावा सुकती आन्दू  
>> बड़ादेव हमारी शकि्त है|

*फड़ापेन मावा सुकती आंदु कोया मुठवा कुपार लिंगो ,यायाल जंगो मावा 
>> बड़ादेव हमारी शकि्त,धर्म है गोंडी गुरु कुपार लिंगो,माता जंगो हमारी

*बेके सुड़ाट हकेने सल्लां दिसीतां ,फड़ापेन रुपते पुजे मासी हन्ता*
>> जाहा देखो वहां देव दिखता है बड़ादेव के रुप मे पुजा जाता हे

*अदे पेन सुकतीता किया अमोट सेवा मुठवा कुपार लिंगो ,यायाल जंगो मावा*
>> उसी देव शकि्त की करते है हम सेवा गुरु कुपार लिंगो,जंगो हमारी माता

*सगा सगाने तुसा आसी हत्तोम सम्मो विस्समो पाड़ी दोहतातोम*
>>सगा सगाओं मे विभाजित है हम सम विषम गोत्र से संबन्धित है हम

*अवे पाड़ी सगा ना किया अमोट सेवा मुठवा लिंगो ,यायाल जंगो मावा*
>>उन्हीं गोत्र सगाओं की करते हैं हम सेवा गुरु कुपार लिंगो,जंगो हमारी माता

*टोप्पार लाटी मावा लिंगोन आंदुने गांगो लाटी मावा जंगोन आंन्दुने*
>> कोप्पार ढाल हमारे लिंगो की है गांगो ढाल हमारी जंगो कि है

*ओर्के सेलाह ,तम्मुना  किया अमोट सेवा  मुठवा कुपार लिंगो ,यायाल जंगो मावा*
>> उनहीं भाई बहनो की करते है हम सेवा गुरु कुपार लिंगो,जंगो हमारी माता

** वाक्य >>>>
निया लासी नना बती कियोन मति नेंड नाकुन निमे फुन्नोन इनतिन
>> तुम्हारे लिये मैने किया नहिं किया पर आज तुम मुझे नहिं पहचानती कहती हो)
निया बेसे हेत वायिता बतिलाय सोंग आतिन
>> आपकी बहुत याद आ रहि है क्यों नाराज हो गये हो)

सगाओ नावोर कचुम वल्ले बेरो हिललेतुर 
>> सगाओ मेरे पास समय नहीं हैं।

हमारी स्वयम पूर्ण गोंडी भाषा को जिंदा रखना है जीसमे हमारी पुरखो का  सृजन सर्व कल्याण वादी जीव जगत का सार  छुपा है।

आप सभी को सुप्रभात  =  इमाट सबेकुन निक्को सकाड़े

बेटियों   के  गोंडी   नाम  ( परोल )
गोंडी            =        अर्थ 
पुन्गार          =        पुष्प 
पंडरी           =        उज्ज्वला ,सफेद 
अने             =         गुलाब 
कमका , कमको  =   हल्दी 
हरनी , हुरनी       =   हिरण 
चिरकी, चिरके   =   गौरैया 
तल्लोरा, तल्लोरी  = सर का ताज 
ककना, ककनी   = कंगन 
मनको , मनकी    =  माणिक 
सोन्नो, सोनकी           =       स्वर्ण 
रूपो , रुपे                =       चांदी 
इरुक , इरुकी, इरुको =      महुवा फूल 
वेली , वेला              =       लता 
काया                     =       फल 
वेड्ची                    =       रौशनी, ज्योति 
अनसी , सुरुस        =       मधुर 
कनको                  =        सुनयनी 
कनकी                  =       अन्नपूर्णा 
कजरो , कजरी      =         काजल 
कलिया , कलि        =        फुल की कलि 
कमोती ,कुम्मो , कम्मो =      मोहिनी 
जंगो                      =         देवी 
रायतार                  =         राजकुमारी 
पोती                     =          माला 
मुला , राया , गौरा    =          देवी 
मयती                    =         विजय 
आकी                    =         पेड़ की पत्ती 

हजारों  नाम  मेसे  कुछ  नाम  देने  का  प्रयास  कीया  हूँ ,  हर  गोंड  खुद  के  बच्चो  का  गोंडी  नाम  रखे मै  भी  रखूंगा पुरखा  संस्क्रति  और  नामो   को  जोहार  है ।

कोया  लम्बेज = गोंडि भाषा >>>
<< शब्दकोश >> पशु पक्षी के नाम >>

गोंडि + मराठी  
कोड्डयास       =   भाजी,     साडी    =   भाकर
कुसरी           =   दाल ,      येर        =  पानी,
घाटो             =   भात,      सापांग   =   बैगन ,  
उल्ली             =   प्याज,        टोंगी    =     पत्तर,            नय    =    कुत्रा ,
कोंदा              =  बैल,           येटी    =     बकरी,            ठाली =    गाय , 
कोर              =  कोंबडी,      घोगोटी =    कोंबडा,         एडमी  =    म्हैस,
 येडजाल       =  अस्वल ,     चिताल =     वाघ,              मुंजाल =   वानर,
 
मरमिंग      =  लग्न
मरा          =  झाड
बुड्डी          =  माठ
कतुल       =  खाट
मंडा          =  मांडव
पुंगार        =  फुल
वेली          =  वेलीं
टोळी         = माती
रोन           =  घर
वेलची        =  उजेड
आकी        =  पान 
कुतुल         = पाट
मुरा            = गाय
@@ गोंडि + हिंदी >>
नावा        =   मेरा
नावोर      =    मेरी
निया       =    तुम्हारा
निवोर     =     तुम्हारी
नीकुन     =    तुमको
माकुन    =          हमको 
नाकुन    =          मुझको
नाक      =          मुझे
वायता   =         आती हैं।
पोलो     =         भाषा
इंदके वाक्य >>
नाक कोया लम्बेज वांता  =  मुझे गोंडी भाषा आती हैं।

सांगी गोंडी भाषा यह विश्व की पहली भाषा है।
मूल गोंडि भाषा बहुत ही कम लोगों को आती हैं।
गोंडी भाषा के शब्द बहुत ही कठिन है।
 हमे Grammatical नहीं सीखना हैं। जयसे भी हो आसान शब्द लेकर सीखना हैं,
 इसके लिए आपको सबसे पहले हरदिन एक घंटे का समय निकालकर रोज  गोंडी भाषा मे बात करना है।

गोंडी  + हिंदी>>>
दादाल   =  भाई
नना       =   मैं
सां        =   से
अगेडाल = वहां से
इगेडाल   = यहां से
बेगेडल = कहा से 
बेकेडाल = किधर से,
(वाक्य पर निर्भर करता है )
बती    = का ,क्या 
ताना   = उस की
ओरक्ना =   उन के
ओरकुन =    उन को
इंगे   =   हां
बद   =  कौन
मंत्ता  = था
मत्तोरक = थे
हतुरक   = गये
हतु        = गई
पुछेमायना  =  पुछना
वेहाना       =  बताना
वाक्य >>
बेगे हंजी ते       = कहां गये थे तो
मावा नाटे बसके वायकी  = मेरे गांव कब आवोगे/आवोगी
निया मडमिंग  ते वायकी  = तुम्हारी शादी मे आउंगी /आउंगी

** नर्का सिकाटी आइता = रात में अंधेरा होता है|
(नर्का       = रात )
(सिकाटी   = अंधेरा)
(आइता    =  होता है)
** नना वरोय मंतोनि = मैं अकेली रहती हु |
(नना   =  मैं)
(वरोय =अकेला या अकेली)
(मंतोनी = रहती हुं)
(मन्तोना = रहता हु )
नना वरोय मन्नोन = मैं अकेला नही रहुंगा|
(मन्नोन  = नहिं रहुगा /रहुंगी)
नना गच्चने वरितान  = मैं अचानक डर गया 
(नना  = मै)
(गच्चने = अचानक)
(वरितान = डर गया/गयी)

गोंडी + हिंदी>>> पाटा
_संगी रो जय सेवा जय सेवा इंदाना_२
सांथी रे जय सेवा जय सेवा बोलना 

_कोयतोरीं वड़कीना कोया पुनेम ते ताकिना_
गोंडी भाषा बोलना गोंडी धर्म पर चलना

_येर मावा ,खेड़ा मावा मट्टा मावा  भुय  मावा आंद ना_
जल हमारा जंगल हमारा धरती हमारा है ना

_यिवुन लासी लडे़ मासी दादा गोंडवाना राज मंदा तरीना_
इनके लिये लड़ के भाई गोंडवाना राज है लाना

_संगी रो जय सेवा जय सेवा इंदाना_२
सांथी रे जय सेवा जय सेवा बोलना 

गोंडि हिंदी वाक्य >>>
_निक बचों गन वेहका_
आपको कितनी बार बताउ

_नाकुन रण्ड गनक वेहा_
मुझेे दो बार बतावो

_नना वेहोन घड़ी घड़ी_
मै बार बार नहिं बताता

_बती करितीट_
क्या सिखे

_नत्तुर निंदता कडंक ने!!__
खून भरा है आंखो में

_नत्तुर पोंगीह चेकोम माक डोडी लेहका__
 हम नदी खून की बहा देंगे.....

_किरीया बुढादेव ता भारत तुन माक गोंडवाना गड़ बनेह किसेकोम_
कसम बुढादेव की भारत को हम गोंड़वाना राज्य बना देंगे...

_घडी़ मेटाय बोरो ता पोल्लो मंदा_
बस कुछ समय की बात है...,

_मंग बोनाय आई टोड्डी तल जय सेवा इंदीहचेकोम_
फिर हर एक के मुँह से जय__सेवा कहला देंगे.....

सगाओ मिवा लाई वाक्य >>
मैं रोज गांव जाता हूँ?
मैं रोज नहाता हु ?
मैं रोज चाय पिता हु ?
मैं हरदिन लिखता हूँ ?
मैं सुबह और श्याम खाना खाता हूं ?
मैं रोज पढ़ाई करता हूँ?

&& कोया  उंडे हिंदी = गोंडि और हिंदी>>> 
जर्रो    = थोड़ा
जर्री    =  थोड़ी
चुडूर   =  छोटा
फडोर  =  बड़ा
इम्मा इंदेक वेहा   = आप अभी बताओ  

प्रश्न >>>
नाक कयूम मन्दा।
 बोना संगे मन्दा ?
 राहुल संगे कयूम मन्दा।
 नेंड इम्माट बाहुन आंदिट?
नेंड अमोट वललेंग चकोट मन्दा।

गोंडी + हिंदी
(वर्तमान काल)
(1)बाहची मन्तोन
कैसे हो
(2)चकोट मन्तोना
ठिक हुं
(3)चकोट सिलेटना
ठीक नहिं हुं
(4)नना कोयतोरिंग करिनतना
मै गोंडी भाषा सिख रहा हुं /रही हु
(5)नाक रके मायो
मुझे समझ नहिं आया
(6)नाक टावा सिले
मुझे मालुम नहिं है
(7)नना फुन्नोन
मै नहिं जानता
(8)नना फुन्तोना
मै जानता हुं
(9)नना जर्रा जर्रा कोयंग करितना
मै थोड़ा थोड़ा गोंडी सिखा हु सिखी हुं
(10)नावा सां कोयतोरीं ने वड़का
मुझसे गोंडी भाषा मे बात करो
(11)कोयने तेन बजी इंतेर
गोंडी भाषा मे इसे क्या कहते है
(12)निमे बतील इत्ती
आपने क्या कहा
(13)नना रोते मंतोना
मैं घर में हुं
(14)निमे बेगे मंतोन
तुम कहां हो
(15)नना खेड़ा ते मंदोना
मै जंगल में हुं
(भविष्यकाल)
(1)बाहची मनकी
कैसे रहोगे 
(2)चकोट मनका
ठिक रहुंगी /रहुंगी
(3)चकोट सिलेमन्नोन आयका
ठीक नहिं रहुंगी/ रहुंगी
(4)नना कोयतोरिंग करिका
मै गोंडी भाषा सिखुंहा/सिखुंगी
(5)नाक रके मायो आयर
मुझे समझ नहिं आयेगा
(6)नाक टावा सिले मंदार
मुझे मालुम नहिं रहेगा
(7)नना फुन्नोन आयका
मै नहिं जानुंगा
(8)नना फुन्नका
मै जानुंगा
(9)नना जर्रा जर्रा कोयंग करिका
मै थोड़ा थोड़ा गोंडी सिखुंगा 
(10)नावा सां कोयतोरीं ने वड़कीकी
मुझसे गोंडी भाषा मे बात करोगे
(11)कोयने तेन बजी इंदानुर्क
गोंडी भाषा मे इसे क्या कहेंगे
(12)निमे बती इन्की
आप क्या कहागे 
(13)नना रोते मनका
मैं घर में रहुंगा /रहुंगी
(14)निमे बेगे मन्की
तुम कहां रहोगे/रहोगी
(15)नना खेड़ा ते मनका
मै जंगल में रहुंगा /रहुंगी
(भुतकाल)
(1)बाहची मत्तोनी
कैसे थे
(2)चकोट मत्तोना
ठिक था
(3)चकोट सिले मत्तोना
ठीक नहिं था
(4)नना कोयतोरिंग करिसी मत्तोना
मै गोंडी भाषा सिख रह था/रही थी
(5)नाक रके मायवाके
मुझे समझ नहिं आया था
(6)नाक टावा सिले मत्ता
मुझे मालुम नहिं था
(7)नना फुन्नवाके
मै नहिं जानता था/थी
(8)नना फुन्नजी
मै जानता था/थी
(9)नना जर्रा जर्रा कोयंग करिसी मत्तोना
मै थोड़ा थोड़ा गोंडी सिख रहा था
(10)नावा सां कोयतोरीं ने वड़कींदी
मुझसे गोंडी भाषा मे बात करते थे /थी
(11)कोयने तेन बजी इंदुरक
गोंडी भाषा मे इसे क्या थे
(12)निमे बतील इन्जी
आपने क्या कहा था/थी
(13)नना रोते मंजी
मैं घर में था /थी
(14)निमे बेगे मंतोनी
तुम कहां थे /थी
(15)नना खेड़ा ते मंजी
मै जंगल में था /थी


गोंडि , हिंदी वाक्य >>>.>..
नेंड       = आज 
नाड़ी     = कल
मनेदिया = परसो
निन्ने      = बिता हुआ कल 
गोंडी + हिंदी>>>
>नाक सुरज मुखी ता पुंगार चोको लागता !
(मुझे सुरजमुखी का फुल पसंद है)
>नन्ना पुस्तक वाचे कितान !
(मैने पुस्तक पड़ ली)
>नना भीमा मंदोना !
(मै भीमा हुं)
>अद रोन डगरो मंदा !      फडोर = बड़ा
(वह घर बड़ा है)

Gondi + Hindi>..> 
नना      =   मै
निम्मा   =   तुम
वोर /होर = वह(for male)
अद        =  वह (for female)
अग्गेय   =  वहिं पर
इग्गेय    =  यहिं पर
इंगे /इंगो =  हां
अस्के     =  तब
इद्देक      =  अब
इगे/इगा    =  यहां
अगे /अग्गा = वहां
निंहगा       = तुम्हारे पास
निया कचुल = तुम्हारे पास
नाहगे /नावा कचुल = मेरे पास
ओना कचुल          = उसके पास
येना कचुल            = इसके  पास
ताना कचुल           = उसके पास(for femele)
इदुन                      = इसको
अदुन                     = उसको
आइता                    = होता है
आतु                       = हो गया
आयोय                    = नहि हुआ
आयर ना                 =  होगा ना
निमा आंन्दी             = तुम हो
निमा आयवी            = तुम नहिं हो
बान /बतिलाय          = क्यों
बाहुन /बाहची           =  कैसे
सिम                          = दो
तरा                           = दिजीये
इदु बीम                    =  ये पकड़

1- निकुन कोयतोरिंग वानतां बा ?     निक = तुम्हें 
(तुम्हे गोंडी भाषा आती है क्या ?)
2 - नाकुन कोयतोरिंग वायोंग / नाकुन कोयतोरिंग वायोंग !
(मुझे गोंडी भाषा आती है /मुझे गोंडी भाषा नहि आत)

Sentence. List simple and complex sentence

1- नेंड नरका नना चहर ते दाका इन्तोना !
(आज रात मै शहर जाना चाहता हुं) 
2- नेंड पुर्वानेट मन्दा !
(आज सोमवार है)
 3- ताना पोरोल मीना मन्दा !
(उसका नाम मीना है )
 4- ओर वरोर मानवान हुड़तुर !
(उसने एक आदमी को देखा )
5- ओर इत्तुर अद झनी जागा ते सुंजीता !
(उसने काहा कि वो महिला जमिन पर सो रही है ) 
6- ओर हुड़तुर ओन फुटबाल करस्तेक !
(उसने उसको फुटबाल खेलते देखा)
7- ओर मांदी ताल झपने बाहड़ो पसिताना कोशिस कितुर ! 
(उसने सभा से जल्दी निकलने की कोशिस की)
8- मड़ा तिगे मुंजाल मंदा !
(पेंड़ पर बन्दर है)
9- नाक ठावा मंदा नाड़ी सुट्टी मंदा !
(मुझे पता है कल छुट्टी है) 
10- नाक तल्ला नोइता 
( मुझे सिरदर्द है ) 
11- सांगी कोया लम्बेज करियाट = (दोस्तो गोंडी भाषा सीखो )

Gondi = बोरे सहिय इत्तोर   
Hindi   - किसी ने सच ही कहा है 
Gondi = जिनगी कियाना मंदा ते सुक दुक तो आयारे
Hindi - जिंदगी जीनी है तो तकलीफ  तो होगी ही 
Gondi  = बतिलाय का
Hindi   - क्योंकि 
Gondi  = साईना पजा तो कोरिना गेला पता लागो         
Hindi   - मरने के बाद तो जलने का भी एहसास नही होता .. !
Gondi  = निक्को सकाड़े
Hindi   -  शुभ सकाळ
Gondi  = निवा नेटी सोबाय चकोट ते हन्नी
Hindi    = आपका दिन बहुत सुंदर हो ..

अना गोटूल ते दाकी बा   = मैं स्कूल में जाऊ क्या ?
इम्माट गोटूल ते दाकि     =  आप स्कूल में जाओगे क्या ?
येर गोटूल ते हन्दानुर बा  = ये घर जायेगा क्या?
वोर गोटूल ते हन्दानुर बा =  वह स्कूल जायेगा क्या ?
नेंड बदरो नेटी आन्दू      =  आज कोनसा दिन है
नेंड आरुनेट आन्दूर       =   आज रविवार हैं।
  इसीतरह चुडूर चुडूर वाक्य लिखकर अपने मन से बनाये ..... 




वाक्य बनाना अपने मन से >>>
नना = मै 
>नना रोते दाका बा
(मै घर जाउ क्या)
निमा  =  तुम
>निमा रोते दाकी बा
(तुम घर जावोगे क्या)
येर।  =  ये
>येर रोते हंदानुर बा
(ये घर जायेगा क्या)
वोर।    =  वह
>वोर रोते हंदानुर बा
(वह घर जायेगा क्या)
(इसी तरह बाकी शब्दों के वाक्य बनाने की कोशिस करें)
इदु।   = ये
अदु   = वो
>Aur iska javab bhi 
(अनी इदेना उंडे उतर दादा)
>Kuch nai 
(बतिय सिले)
>Ya 
(नयते)
>Kam kar raha hu 
(कयुम कियातोना )
>Busy hu 
(बुतो ते मंदोना)
>Ka batao na dada
(ता वेहा न दादा)

*चलो आचार्य मोतीरावनजी कंगाली सर का कारवां आगे बढाते है ......
*इद वडुकताल वरीमा मनी*
  इस खबर से घबराना नही .
*Don't get disturbed  by  this news*
*नावा बेसोडी केंजसी ओना गमेत आतु*
 मेरी कहानी सुनकर उसका मनोरंजन हुआ.
*He was amused by my story*
*ओना ताकसार ताल अमोट उकटे मांतोम*
 उस के व्यवहार से हम उकता गये .
*We were bored by his behaviour*
*नना जुन्नाल मुद्दा सीसी पुनाल येत्तान*
 मैंने पुरानी अंगुठी देकर नई ले ली .
*I replaced my ring by new one*
*इमा इर्वीन से ताक कियाना हिले पुनवी*
  तुम दुसरों से बर्ताव करना नही जाणते .
*You did not know how to deal with others*
*माकुन गोंडी पोलो सी पैचान आता होना*
 हमें गोंडी भाषा से परिचीत होना चाहिये 
*We should be acquainted with the GONDI language*
*ओर रुप किमया ता हुनेर ते चोरबोर मंदोर*
 वह चित्र कला की प्रतिभा से संपन्न है .
 
 शरिर के अंग>>> 
मेंदुल  = शरिर,      कड़     =   आंख ,      कड़क     =   आंखे, 
मोसोर  =  नाक ,   टोड्डी।   =  मुंह,           कव्वि     =     कान,
कव्विंग   =  कान का बहुवचन ,                कय        =  हांथ
कयक    =  हांथ का बहुवचन
मिंन्दी    =  बिरौनी ,                                काल     =     पैर, 
काल्क   =  पैर का बहुवचन,
अंगठी   =  हांथ का अंगुठा
अंगठिंग =  हांथ व पैर  की उंगलियों का बहुवचन
अंगठा   =  पैर की बड़े अंगुठे
अंगठांग =  अंगुठे का बहुवचन
नख्खि।  =  नाखुन
नखखिंग =  नाखुन का बहुवचन
ठोंगड़ो   =  घुटना,         जांगा     =    जांघ,           मोड्डी     =     नाभि,
पिर /पट्टा =   पेट,          बख्खा  =      बांह,          पराकी     =     पिठ,
नड़ी        =  कमर,        गुंड़गा    =      गला,          टोटरा      =     गर्दन,
वंजेर       =  जीभ,         कप्पार  =      माथा          कोरवी    =     गाल,
चिरा       =   नस,          पल       =      दांत,           पल्क    = दांत का बहुवचन,
सिवली   =   होंठ,          तल्ला    =       सिर,
>>बतिय मरंगसी मनका ते वेहाट
(कुछ भुल गया होगा तो बताओ) 


गोंडी  =   हिंदी 
बति किया निमे     =   क्या कर रहे हो आप 
रवि बेगे हत्तुर       =    रवि काहां गया
ओर कयुम दे हत्तोर  = वो काम पे गया है
वचोर मोका वायनुर  = कितने समय आयेगा
धुपाड़े वायनुर        =  दोपहर को आयेगा
रोते बोर बोर मंदोर  = घर पर कौन कौन है
नना अनि नावा सेलाड़ मंदा  = मै और मेरी बहन है
रविन वेहकी नना वासि इंजी  = रवि को बताना मै आया था करके
निकुन रविन लासि बति तयुम मत्ता  = आपको रवि से क्या काम था 
रविन जत्रा हुड़ीले ओयका इ़न्दान  = रवि को मंडई देखने लिजाउंगो कह रहा था
निमे जत्रा हुड़ीले हंदी बा   =       तुम मंडई देखने जा रहे हो क्या 
ना लासि बती ततकी    =       मेरे लिये क्या लावोगे
नालय बतिय तरी फरितनि नि़वा बिचार ता = अपनी पय़संद का कुछ भी ला सकते हो
इंगे ततका  =  हा लाउनंगा
नना निवा सरी हु़ड़का  =  मै तुम्हारा रा देखुंगी
निमे अगडल बसके वायकी  =  वहा से तुम कब आवोगे 
नाड़ी सकाड़े वायका  = कल सुबह आउंगा
नना रोतेने मनका नड़ि = मै कल घर पे ही रहुंगी 
नीव जावा आतु बा -= आपका खाना हो गया क्या 
इंगे सापां ना कुसरी तित्तान  = हा भाटा सबजी खाइ 
निमे गाटो जावा तिनकी बा  = तुम खाना खावोगे क्या
>हिले नना रोतल तिंजी वातना माहंगे केरिल चकना
(नहि मै घर से खाकर आया हु हमारे घर करेले की सब्जी )
जावा उनवी ते चाहा तेरी उन  = खाना नहि तो चाय फिर भी पिलो 
सोबाय ता चाहा बने कितनी  =  बहुत अच्छा चाय बनायी हो

*प्रिय गोंडीयन सगाजीवों गोंडी भाषा को जीवीत आप ही रख स कते हो*.
*ज्यादा नही तो थोडी थोडी समझकर घर में बोलणे का प्रयास जरुर किजीये*.
*आप ने छोड दिया तो आनेवाली नस्ल खत्म हो जायेगी*.
जिन्हें आती है वे सिखाते नही और मुझे बोलणे आती नही ,पर लिखणे का प्रयास द्वारा  आचार्य मोतीरावणजी कंगाली सर के किताबों को इस मोतीकण के जरीए आप तक पहुचाने का काम करता हु .ताकी आप कुछ ना कुछ तो सिखोगे ,आप बोल सके तो वही उस महामानव को आदरांजली होगी. इसी उम्मीद से प्रयास करते रहता हु .बस आप का स्नेह एंव प्यार मोतीकण पर रहे.
*ओर कोली ते हत्तुर*
  वह कमरें में गया .
 *He went in to the room*
*नना नीवा उर्पाट ते निल्लाका*
 मै तुम्हारें विरूध्द खडा रहुंगा .
*I shall stand against you*
*ओना चुगली सबुत परो उत्ताल हिले अयंदु*
 उसकी आलोचना तथ्यों पर आधारित नही है.
*His criticism is not based on facts*
*इमाट अगा हंदाले बाळी मुहरे मातोरीट*
आप जाने पर क्यों तुले हुए हो .
*Why are you forced by going there*
*सिनेमा सर्वा आयेवाल मंदा*
 सिनेमा सुरु होणेवाला है .
*The show is about to start*
*नना नावा कयुम मुन्ने शुक्रवार वेरी माहची येतका*
 मै अपना काम अगले शुक्रवार तक समाप्त कर लुंगा .
*I shall finish my work by next Friday*
गोंडी + हिंदी>>>>>>>
 सोंग आयमा  =  नाराज मत हो
नना वाइ फरोन  = मै नहि आ सकता
नाक इद बिचार वायो = मुझे यह पसंद नहिं
निक अगे हत्ता होना  = तुम्हे वहां जाना चाहिये
वोर नावा इत्ताल तुन केन्जोर  = वो मेरे कहे को सुनता नहिं
निमा नावा उंदी कयुम केकी   = तुम मेरा एक काम करोगे 
नना निया बदे कयुम कियोन   = मै आपका कोई काम नहिं करुंगा
निया मरमिंग आतुंग बा         = आपकी शादी हो गई क्या
नना मरमिंद कियोने              = मै शादी नहि किया हु
नना निया रोते वया फरोन      = मै आपके घर नहि आ सकता 
माक अगे हंदी फरवाट           = हम वहां नहिं जा सकते
कच्चो झगा तुन अद्दी ते वतिहचिम  = कच्चे कपड़ा को धुप में सुखा दो 
निमे नाकुन सकाड़े तेहवी बतलाय   = आपने सुबह मुझे उठाया क्यों नहि
निमे बद नाटे मन्तोनी  =   तुम किस गांव मे रहते हो 
इद सरि बेगे हंन्ता       =   यह रास्ता कहां जाता है
स्टेसन बद सरि हंता    =   स्टेसन कौन सा रास्ता जाता है 
नना निया से बतिये इंदाना चाहे मान्तना = मै तुमसे कुछ केहना चाहता हु
इंगे इन                    =      हा कहिये
निने नरका नाक अड़की बिसी =  कल रात मुझे बुखार था 
नावा पिर नोइता            =   मेरा पेट दर्द कर रहा है
टुड़ा हिके वड़ा               =   लड़के इधर आवो
येर उंडिले तरा               =   पानी पिने दो
नाकुन उंदी रुपया सिम    =  मुझे एक रुपया दो 
नाहंगे पैससां हिललेतुर    =  मेरे पास पैसे नहिं हैं 
इद मरका मड़ा अांद का   =  यह आम का पेंड़ है क्या
निया बताल पोरोल मंदा   =  अापका नाम क्या है 
नियोर बाबो वती किन्तोर  =  आपके पिता क्या करते है 
निमे बती कयुम किन्तोन   =  तुम क्या काम कर रहे हो
निमे बातोर मानवाल आन्दी = तुम कैसे आदमी हो 
निमे बेसे धिराय ते वड़कीतनी  = तुम बहुल धिमे बोलते हो

** गोंडि + हिंदी + अंग्रेजी >>>>
*ओर मार्च ते वायनुर*
 वह मार्च में आयेगा .
*He will come in March*
*नना अद्दीते पेन्कमेडी दाका*
 मैं गर्मी में पेन्कमेडी जाउंगा
*I will go to Pachamadhi in summer*
*अद सकारे गदने तेदीता*
 वह प्रात: काल जलदी उठती है .
*She get up early in the morning*
*नीकुन ओना आकी मुंद नेटी ने पुट्टार*
 आप को उसका पत्र तीन दिनों में मिलेगा.
*You will receive his letter in three days*
*अमोट रण्ड फरवरी तुन मुम्बई पसीतोम*
हम दो फरवरी को मुम्बई रवाना हुये .
*We left for Mumbai on second February*
*नना सोमवार तुन अवसी दाका*
मै सोमवार को पहुंच जाऊंगा .
*I will reach on Monday*
*इमा सुडीया मुंद नेकेक  वाती*
 आप साडे तीन बजे आये .
*You came at half past three*
*इमाट नर्का तुन कलकत्ता अवकीट*
आप रात को कलकत्ता पहुचेंगे .
*You will reach Calcutta at night* 

 .कुछ महत्वपूर्ण पण्डुमों (तिहारों ) की सुची निम्न प्रकार की है .
*तिहारों ( पण्डुमों) के नाम और तिथी .*
1) *सयमुठोली पण्डुम* (पांच पावली ) = माघ पूर्णिमा.
2) *संभु नरका पण्डुम* (शिव जागरण) = माघ अमावस्या के दो दिन पुर्व .
3) *शिमगा पण्डुम* (होली या शिवमगवरां ) = फाग पूर्णीमा.
4) *खणडेरा पण्डुम* (मेघनाथ पुजा ) = फाग पूर्णिमा पाडवा.
5) *रावेणमुरी पण्डुम* (रावण पुजा ) = फाग पूर्णिमा पंचमी.
6) *माण्ड अम्मास पण्डुम* = फाग अमावस .
7) *भीमालपेन पूजा* =  चैत्र पूर्णिमा .
8) *माता दाई पुजा* = चैत्र पूर्णिमा पंचमी .
9) *नलेज पूजा*= चैत्र अमावस
10) *इरुक पुनो तिंदाना पण्डुम* = वैशाख पंचमी.
11) *फडापेन पुजा (परसापेन)* = वैशाख पूर्णिमा .
12) *संजोरी बिदरी पण्डुम* = ज्येष्ठ पूर्णिमा .
13) *हरियोमास पण्डुम* = ज्येष्ठ अमावस .
14) *खुट पुजा (आखाडी)* = आषाढ पूर्णिमा .
15) *सगापेन पूजा (जीवती)*= आषाढ अमावस .
16) *नाग पुजा* ( अही पंचमी) = श्रावण पंचमी .
17) *सैला पुजा पण्डुम (नृत्य पूजा )*= श्रावण पूर्णिमा.
18) *पोरा षडगा ( पोला )* =श्रावण अमावस .
19) *दाना पुनो तिंदाना (नया खाना )* = भादो पूर्णिमा पंचमी. 
20) *नरुंग दाई पूजा* = अश्विन दशमी .
21) *जंगो लिंगो लाटी पूजा* = कार्तिक पंचमी .
22) *नार पूजा*= कार्तिक पूर्णिमा .
23) *कली कंकाली दाई पूजा* = पौष अमावस .
*इस प्रकार हमारे मुख्य तिज तौहार है*
है.
गोंडी को हिंदी एंव अंग्रेजी नुसार समझते है.
*जय सेवा ,संगी*
  नमस्कार दोस्त 
*Good morning friends*
*वल्ले बेस ,धन्नाई नीवा*
बहुत बढिया ,धन्यवाद .
*Very well ,thank you*
 *इमाट बाहुन मंदोरीट ?*
 आप कैसे है 
*How are you ?*
*नना बेसय बेस मंदोना*
 मै ठिक ठाक हु .
*I am fine*
*वळका संगी ,हाक ताक बाहुन मंदा*
बोलो दोस्तो ,हाल चाल कैसा है .
*Hello friends ,How are you ?* 

*चलो आज नही तो कल *मैं नही तो मेरे बच्चें *गोंडी भाषा को हम जरुर जरुर सिखेंगे *किसी भी हालात में ,इस पुरखों की बोली भाषा को लुप्त या नष्ट नही होणे देंगे *बहुतसे सगाजीव एक- दोन दिनों में ही इसे सिखना चाहते है *लेकिन धिरे धिरे सिखने का मजा कुछ ओर ही होता है , "तुम क्या जानोगे गोंडीयन बाबु"*
*गोंडी को हिंदी एंव अंग्रेज़ी नुसार जाणते है*
 *अकुमारेती*
 (विध्यर्थक)
*वाक्यों को समझते है*
*कुरपा किसी कीवाड तरीयाट*.
 कृपया दरवाजा खोलिए .
*Please open the door*
*कुरपा किसी उंदी कप पाल येताट*.
  कृपया एक कप दूध लिजिए .
*Please have a cup of milk*
*कुस्सय मन्ट*.
  चुप रहो .
*Please keep quite*
*कम्मेके मन्ट*
शांत रहो .
*Please keep silence*
*कयुम निलीहाट*.
  काम बंद करो .
 *Stop the work*


*अस्तित्व की लढाई हेतु हम हमारी अपनी गौरवशाली "गोंडी भाषा" को अपनाते है. गोंडीयन कौम को इससे अवगत कराकर ही जीवन को सार्थक बनाते है**कुछ बडा काम आप से समाज नही चाहता. बस छोटा छोटा ही काम को अंजाम दो ,तो सब का छोटा छोटा काम एकदम बडा दिखेगा.**बस समाज हित के लिये कुछ अच्छा एंव छोटा काम जरुर जरुर करों.
*गोंडी को हिंदी एंव अंग्रेजी नुसार समझते है*

*इंगारेती*
( सकारात्मक )
*वाक्यों को समझते है*
*तवीयान वल्ले कवयता मत्ता*.
दृश्य बहुत सुंदर था .
*It was a beautiful scene*
*नना पडकीतोना का नना मंत्री आयेना*
मै चाहता हु की मै मंत्री होता.
*I wish i were a Minister* 
*नर्का वल्ले , पीनी अईंदा.*
 रात को बडी ठण्ड है .
*It is a cold night*
*अमोल वल्ले कसेटता जिनगी जगे मायतोम*
 हम बडा कठीण जीवन व्यतीत करते है .
*We live a very hard life*

*आचार्य मोतीरावणजी कंगाली सर ने हमे कोया पुनेम और सांस्कृतीक साहित्य की जानकारी नही दि होती तो हम आज भी इस हेतु भटके ही कहलाये जाते**चलो उस महान शक्सीयत को नमन करते हुये, उन्हें उन्हिं के लिखाणों से याद करते  है.*
*ठामीगणवाल*
( निश्चयवाचक )
*वाक्यों को समझते है*
*बोरे मानवाल इच्चो बुयवर्ता हिले सोसे किया परोर*
कोई व्यक्ती इतना अपमान नही सह सकता .
*Nobody can bear such an insult*
*तबेत धन सी वल्ले कीमते मंदा / अईंदा*
स्वाथ्य धन से अधिक मुल्यवान है .
*Health is more precious than wealth*
*ओर्कन पार्टी ते मजा वातु*
 उन्हें पार्टी में आनंद आया .
*They enjoyed at the party*
*अमोट इव नेटीनुंग बसकेने हिले मरंगी पराकोम*
हम इन दिनों को कभी नही भुल सकेंगे .
*We will never forget these days
*अच्छम्बीगणवाल*
 ( विश्मय बोधक )
*वाक्यों को समझत है*
*बच्चो कवयता तवीयान मत्ता अद !*
 कितना सुंदर दृश्य था वह !
*What a beautiful site it was !*
*अईप ! नना मंत्री आयेना !*
 काश ! मै मंत्री होता !
*Oh, i were a minister !*
*नर्का ते बच्चो पीनी मंदा /अयंदु !*
 रात को कितनी ठण्ड है !
*What a cold at night is*
*अमोट बच्चो कसेटता जिनगी जगे मायतोम*!
हम कितना कठीण जीवन व्यतीत करते है .!
*What a hard life we live !*

Chapter 19 (Vocabulary)
*झुंड एवं समुह*
*Words Denoting Collection*
*पाटा वार्वाल्क ना समूह*
गाने वालों का समूह
Band of musicians
*हुक्कों ना समूह*
तारों का समूह
Clusters of stars
*मेंडाह ना समूह*
भेड़ों का समूह
Flock of sheep
*डोंगी ताकिहवाल्क ना समूह*
नाविकों का समूह
Crew of sailors
*डाकुल्क ना समूह*
डाकुओं का समूह
Band of robbers
*पेकीह ना समूह*
लकड़ियों का समूह
Bundle of sticks
*जहाज्क ना बिड़ा*
जहाजों का बेड़ा
Fleet of ships
*काड़ाल विसीं ना बेड़ा*
मधुमक्खियों का झुण्ड
Swarm of bees
*कुंजिंग ना गुच्चा*
चाभियों का गुच्छा
Bunch of kyes
*अंगुर्क ना गुच्चा*
अंगूरों का गुच्छा
Bunch of grapes
*पुंगाह ना गुलदस्ता*
फूलों का गुलदस्ता
Bouquet of flowers
*लोकुर्क ना बिड़*
लोगों की भीड़
Crowd of people
*मट्टांग*
पहाड़ों की श्रंखला
Chain of mountains
*पिट्टेंग*
पक्षियों का दल
Flight of birds
*मड़ाक/मराक*
पेड़ों का झुण्ड
*पद्दींग*
सूअरों का झुण्ड
Herd of swine
*काड़ी ता डुंगा*
कूड़े का ढेर
Heap of rubbish
*वारु ता ढग्गी*
रेत का ढेर
Heap of sand
*कोडांग*
घोड़ों की टुकड़ी

*गोंडी + हिंदी*
*कोय्याना* = तोड़ना
*कोय्यिता* =तोड़ रही है
*कोय्यान्तोर*= तोड़ रहा है
*कोय्या*      = तोड़ो
*कोय्यमा*    = तोड़ो मत
*कोय्यकी*   =  तोड़ोगे
*कोय्यवी*    =  तोड़ोगे नहिं
*कोय्यांतंग*  =  तोड़ रहि हैं(बहुवचन)
*कोय्यान्तोर्क*= तोड़ रहे हैं(बहुवचन)
*कोय्योर्क*    = नहिं तोड़ रहे 
*कोय्यसी*    = तोड़े थे/थी
*कोय्यवाके*  = तोड़े नहिं थे/थीं
*कोय्यिंदु*      = तोड़ रहि थी
*कोय्योरआन्दुर्क* = नहि तोड़।रहे थे
*कोय्यका*  =  तोड़ुंगी/तोड़ुंगा
*कोय्योन*   = नहिं तोड़ुंगी/तोड़ुंगा
*कोय्योय*   =  नहिं तोड़ी है
*कोय्योरे*    =  नहिं तोड़ा है

** गोंडि + हिंदी >>>>
 *येर,खेड़ा,अनी जागा ता लड़ाई आंद,,इद्देक तो जागा ते वाया लागर*
जल जंगल जमीन की लड़ाई है,,अब तो जमीन में आना होगा।
*येर्रक फंदील्क रज नेताल्क नल,,गोंडवाना राज तरी लागारे।*
इन पाखंडी राज नेताओ से,,गोंडवाना राज लाना होगा।
*लगित सहेय मातुर्क मावोर्क पुर्वजल्क दुख्म तकलिप नोयाना मंदा*
बहुत सहे है पुर्वजो ने, दुःख तकलीफ पीड़ा है।
*इदेक सहेय।मायोम गुलामी मालिके बने  मासी कुन जीनगी कियाना मंदा*
अब न सहेन्गे ये गुलामी, मालिक बनकर जीना है।
*निमाट चिल्ले मासी मासी इन्ट पाख्ंडील्क इदेक तेरी राज वायार*
तुम चिख-चिख चिल्लाओ पाखंडीयो, अब तो राज आएगा।
*तल्ला नर्के माईते माइ हिले ते सासी सिंदोम""गोंडवाना राजे वायारे*
चाहे सर कटे या मर मिटे,, गोंडवाना राज तो आएगा
*सेवा सेवा*
*सजोर पेन ता सेवा*
*राज करेगा गोंडवाना*

गोंडी + हिंदी
*उद्दा*   =  बैठ
*निला*  = खड़े हो
*तेद्दा*    =    उठो
*उद्दित्तोर*=  बैठा है
*उद्दित्ता*  = बैठी है
*तेदितोर*=  उठा है
*तेदिता*  =  उठी है
*तेदानुर*  = उठेगा
*तेदार*    = उठेगी
*तेदकी*   = उठोगे
*तेदवी*    = नहिं उठोगे
*उद्दोय*    = नहिं  बैठी है
*उद्दोरे*     = नहिं बैठा है
*उद्दार*     =  बैठेगी
*उद्दानुर*  =  बैठेगा
*उदवी*   = नहिं बैठोगे
*उची*     =  बैठा था
*उच्ची मत्तोर* = बैठा था
*निल्सी*       =  खड़ा था/थी
*निलवाके*    = खड़ा नहिं था/थी
*निलता*        = खड़ी है
*निल्लोय*      = नहि खड़ी है
*निल्लार*      = खड़ी होगी
*निलतोर*     = खड़ा है
*निल्लोरे*     =  नहिं खड़ा है
*निलानुर*     = खड़ा होगा
*निलतना*    =  खड़ा /खड़ी हुं
*उद्दीत्ना*   =  बैठा /बैठी हुं
*तेदत्ना*    =  उठी /उठी हुं
*निल्लोने*  =  खड़ी /खड़ा नहि हु
*उद्दोने*     =  नहिं बैठा /बैठी हुं
*तेदोने*     =  नहिं उठा /उठी हुं
*निलका*  =  खड़ा होउंगा/होउंगी
*उदका*    =  बैठुंगा /बैठुंगी
*तेद्दका*   =  उठुंगा/उठुंगी
*निल्लोन* = निही खड़ा होउंगा/गी
*उद्दोन*    = नहिं बैटुंगा /बैठुंगी
*तेदोन*   =  नहिं उटता/ती

नेंड छोड़ पकड़ करिताले 
पकड़=बैया 
पकड़ो= बैयाट 
पकड़कर=बैसीकुन 
पकड़ लिया= बैसीयेतान 
पकड़ ली = बैसी येतुन
पकड़ा= बैतान 
पकडी= बैतुन
पकड़कर लाओ= बैसीकुन तराट 
पकड़ रहा है= बैयीतोर
पकड़ रही है=बैयीता 
मत पकड़= मन बैया


गोंडि शब्दावली>>>
तोड़ना     = कोईना 
तोड़        = कोईया 
तोड़ो       = कोईयाट 
तोड़कर   =  कोईसीकुन 
तोड़ रही है = कोईतोर 
तोड रहा है  = कोईता

*'अातु*   --  होगया
*आयर*  --  हो जायेगा
*आईना मत्ता*  --  होना था
*आयो*          --   नहिं होगा
*आत बा*      --   हुआ क्या 
*अनि*         --    और
*अस्के*       --     तभी
*अद्दम आयो* --  वैसे' नहिं
*आंदु बा*     --   है क्या

आज हम तोड़ फोड़ करेगे >>.
तोड़ना    =  उरियाना 
तोड़ो      =  उरियाट उरिया
तोड़      =   उरिया। 
तोड़कर  = उरिचीकुन
तोड़ रहा है = उरिया तोर 
तोड़ रही है= उरियाता 
आईये वाक्य बनाते है>>> 
*मुझे घर तोड़ना है* 
नाकुन रोन उरिताना मंदा 
*काँच तोड़*
काँच उरिया 
*घर तोड़ो *
रोन उरियाट 
अब बात   फोड़ने की>>> 
फोड़ना   = वोहतीना 
फोड।     = वोहा
फोड़ो।    =वोहाट 
फोड़ कर = वोहचीकुन
फोड़ रहा है =वोहतीतोर 
फोड़ रहि है = ववोहतीता 
फोड़ दिया  = वोहचितुर 
फोड़ दी     = वोहचित 

* नेंड ता  test peper*_
*इद सवाल हल किम ?*
tipe : *उत्तर gondi में देना अनिवार्य है?*
वाक्य बनाओ|
_*Gondi + hindi + English*_

इद-    यह. + This
ans . _इद_ लिखनी आन्दु।
Hi. यह एक पेन है।
बोर-   कोन.  + who
ans .अद _बोर_ आन्दु?
Hi .  वह कोन है।
इदेके-  अभी + now
ans .अगे ते _इदेके_ वाइतना।
Hi .  वहाँ से अभी आ रहा हूँ।
मन्दा-     है  + is/are
ans .  निया नार बोर मन्दा?
Hi .  आपका गांव कोन सा है।
नना-      मैं + i
ans .  _नना_ Akki मन्दोना।
Hi .   मैं अक्कि हु।
नावा-     मेरा  + my
ans  . इद _नावा_ कार आयो।
Hi .  यह मेरी कार नहीं है।
निया-     तुम्हारा + your 
ans . निमे _नियोप_ वल्ले कर्जादल मन्दोना।
Hi .में आपका बहुत अह्सान मन्द हूँ।
करुय-    भूख. + hungry 
ans . नाकुन वल्ले _करुय_ मन्दा।
Hi . मुझे बहुत भूख है
अद-       वे/वह + he/ she
ans . _अद_ बेगे हन्जी?
Hi .  वे कहाँ गए है।
पेन ठाना-  मंदिर + temple
ans . इद फड़ापेन _ठाना_ आन्दु।
Hi . यह बड़ादेव जी का मंदिर है।
निम्मा-      तुम + you
ans . _निम्मा_ नावा मयारु मन्दोनी।
Hi .  तुम मेरी प्रिये/मेरा प्रिय हो ।
अदेना-      उसका 
ans . _अदेना_ सबोय चकोत मन्दा।
Hi .उसका सब ठीक ठाक है।
शुदो-   थोड़ा + some
ans . _शुदो_ बेरो हन्जी।
Hi . थोड़ा देर हो गया।
भेंट-        मिलना + meet
ans .  निसाम् _भेटे_ मासी सुख्म आतु।
Hi.  आपसे मिलकर ख़ुशी हुई।
मुन्ने-       पहले + before
ans . _मुन्ने_ निमे।
Hi . पहले आप
मयारू-    प्रिये + dear
बेगे-      कहा + where
ans . नेन्ड _बेगे_ हन्जी।
Hi.आज कहाँ गए थे
खेड़ा-    जंगल + 
ans . नेंड नना _खेड़ा_ हन्जी।
Hi . आज में जंगल गया था।
बेरो-   समय + time
ans . इदेके _बेर_ सयरु सेवन्त।
Hi . अभी सात बजे है
अस्सि-  खरीद  + by 
 ans . निमा हिले _अस्सी_।
Hi . तुम नहीं ख़रीदे।
दादाल-   भाई + brother
ans . इद नावा _दादाल_ मन्दा।
Hi . यह मेरे भैय्या है।
हारी-     रोटी  + chapati 
ans . नना गाटो ते _हारी_ तिन्द्ना।
Hi.  में भोजन में रोटी खाउगा।
फुत्तिना नेटी-  जन्मदिन + birthday
ans . नेंड नावा _फुत्तिना नेटी_ आन्दु।
Hi.आज मेरा जन्मदिन है।
मैलो-   बुरा/बुरी  + बाद
ans . रमेश वल्ले _मैलो_ छव्या आन्दु।
Hi . रमेश बहुत  बुरा लड़का है।


गोंडवाना भुप्रदेश में निवास करने वाले कोया वंशिय, मुल वंशिय ,गोंडीयन समुदाय के कुछ महत्वपुर्ण *पण्डुमों (तिहारों )* के बारें में समझते है जाणते है . 
तथा *आपसी एकता* की किमत समझते है .
प्रिय गोंडीयन सगाजीवों ,हम इस धरती पर पैदा हुये सभी कोयावंशिय गोंडवाना भु भाग मे निवास करने वाले कोयावंशिय गोंडीयन है .लेकिन अलग अलग व्यवसाय नुसार हमें अलग अलग जमातीयों मे बांट दिया गया और हम आज वही हमारी पहचान लेकर हम जी रहे है .हमारी जमातीयोंमें से कुछ जमातीयां शहर मे आकर बस गई और आगे पढने-लिखने की वजह से नौकरी या व्यवसाय मे लगकर ,बाकी गैर गोंडीयनों के साथ रहकर हमारी अपनी ही कुछ जमातीयां जो जंगलों मे रहती है उनसे दुरियां करने लगी जो आज बडी तादाद में जंगलों मे निवास करती है, उन्हें आज भी हमारी ही कुछ जमातीयां हिन दर्जा की समझती है .और आज हम ही शहर में आकर बसे हुये थोडे पढे लिखे कुछ जमातीयों के कुछ गिने चुने लोग पुर गोंडीयन जमातियों मे फुट डालने का काम कर रहे है .आज दुर दराज के जंगलो, पहाडो ,देहातों मे ,ग्रामों मे कुछ ना कुछ तौर पर पढे- लिखे गोंडीयन  लडके होने से, आज उनके गांव में गोंडीयन संघटनावों के बोर्ड लगे है.और वह सभी अपने आप पर गोंडीयन होने पर गर्व महसुस करते है .और हमारी ही कुछ जमातीयों के लोग ,खुद को उस जमाती के मुखियां समझकर गाव में जो सभी जमातीयों मे एकी है वहां जाकर "बोर्ड ऐसा नही ऐसा होना है "इस प्रकार आजकल व्यवहार करके गांवों का माहौल बिघाडने का काम कर रहे है .यह सरासर गलत है.फिर भी आप सभी सुज्ञ हो, आप ही कुछ समझकर समुदाय मे एकता को मजबुत रख सकते हो ,वर्ना गैरो के द्वारा हमे गुलाम होणे मे ज्यादा देर नही लगेगी.खैर सुज्ञ सगावों क्या बताना .चलो हमारी कुछ जमातीयों की हाल में सर्वेक्षण निरीक्षण होणे जा रहा है की ,वे आज किस संस्कृती नुसार अपने जन्म से मृत्यू तक के संस्कार करते है ,उस पर से यह आज की राजकिय- प्रशासकीय व्यवस्था अनुमान लगायेगी की यह जमात अनुसुचित जमातीयों मे आती या नही आती .?हम अगर हमारी गोंडीयन मुल संस्कृती भुल गये तो हमारी गिनती गैर गोंडीयनों में होना तय है .
इस लिये हमने हमारे तिज तौहार ,हमारी अपनी गोंडीयन तिथी पर ही हमारी परंपरा नुसार ही मनाना चाहिये .इस लिये उन की जाणकारी हम समझते है . कोया वंशिय गोंड समुदाय के गण्डजीव अनेक तिज तौहारों को मानते है ,जिन्हें "पण्डुम "कहां जाता है


>>>इसे आप पुरे होश के साथ ध्यान में रखकर मनावोगे .
*इसी बडी उम्मीद के साथ हम आप सभी की ओरसे पुज्यनिय आचार्यजी को भावभिनी आदरांजली अर्पीत करता हु*
*आज उस महान गोंडीयन सगाजीव को याद करने का दिन है ,जिनके अथक प्रयासो से हम नोकरीपेशा गोंडीयन एकजुट होकर "ऑल इंडीया आदिवासी एम्ल्पॉईज फेडरेशन" की छत्रछायामें फल फुल रहे है *वे है हमारे अपने गोंडीयन सगाजीव पेनवासी कें. बा. मरसकोल्हे साहेब* हम सभी नोकरीपेशावों के प्रेरणास्थान, वे नही होते तो ,हम आज इकट्टा नही होते ,उनके कार्य को "पिला सलाम" करते है .*जय सेवा करते है*
*प्रिय गोंडीयन आदिवासी मुलनिवासी सगाजीवों आज हम सभी को एकजुट होणे की आवश्यकता है *आज चंद्रपुर गोंडीयन नगरी में ऑल इंडिया आदिवासी एम्प्लॉईज फेडरेशन का सुवर्ण महोत्सव का भव्य आयोजन होणे जा रहा है.*सुशिक्षीत,शिक्षित,*सुज्ञ एंव तज्ञ वैचारीक नोकरीपेशा लोगों का  मध्य भारत का एक सशक्त संघटन होणे से, उनके प्रयासो से हमारी अपनी सामाजिक, शैक्षणिक ,आर्थिक विकास की जो भी  कठीनाईयां है ,वह कमी होणे में जरुर मदत होंगी *सभी मुलनिवासी, आदिवासी ,गोंडीयन सगाजीवों ने आपसी भेदभाव ,मनमुटाव हेवेदावे को भुलाकर इस संघटन में जुडना आवश्यक है*
*गोंडीयनों आदिवासीयों मुलनिवासीयों समय की मांग है सभी एकजुट हो क्यो की   समय ही हम सभी गोंडीयन ,मुलनिवासी आदिवासी पर अन्य कौम से ज्यादा कहर बरसा रहा है *आज हम सचेत नही हुये तो या एकजुट नही हुये तो हमारा अंत तय है.
*सुज्ञ सगावों को क्या कहे, उन्हें कौन समझायेगा. ?????**सब राजा है अपने मनके.खैर कोशिश कर रहे समझाने की ,समझे तो अच्छी बात है नही तो अंत में अंत होना तय है*
*वैचारिक सगाजीवों को सप्रेम जय सेवा जय गोंडवाना*
*आवो आचार्य मोतीरावणजी कंगाली सर को याद करते 

मार्गदर्शक :- अजय कुमार गोटे, प्रिंस उइके , अवचितराम सयाम , 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

750 क्या है? गोंडवाना 750 का मतलब क्या है? पूरी विस्तार से जाने।

    गोंडी धर्म में 750 का महत्व - हमारे सगाजनो को 750 के बारे में पता होना चाहिए ।अगर आप गोंड हो तो आपको अगर कोई पूँछ लिया तो आपको जवाब  पता होना चाहिये। कई बार दूसरे समाज के लोग आपको पूछें तो आप उन्हें विस्तार से समझा सके। की 750 का मतलब क्या है। तो चलिए विस्तार से जानते हैं।       750 का क्या अर्थ है? जाने गोंडी धर्म में महत्व -         750 का अर्थ है - शुरुआती अंक 7 से मतलब है। मनुष्य में सात प्रकार का आत्मा गुण होता है।     (1) सुख    (2) ज्ञान    (3) पवित्र    (4) प्रेम करना    (5) शांति    (6) आनंद    (7) शक्ति दूसरा अंक है 5 , पाँच का मतलब शरीर के पाँच तत्व से है। शरीर के पाँच तत्व   जिससे जीवन है - इनके बिना जीवन असंभव है।    (1) आकाश    (2) पृथ्वी    (3) पानी    (4) अग्नि    (5) वायु शून्य का मतलब है निराकर जैसे की हमारे प्रकृति का कोई आकार नहीं है। माँ के गर्व से भी शून्य का मतलब है।जैसे हम पृथ्वी पर जन्म लेते है।    0 = निराकार है, जिसका कोई आकार नहीं।      7+5+0=12 धर्म गुरु पारी कुपर लिंगो जी ने एक से बारह सगापेनो में बाँट दिया है। जैसे कि देवों की संख्या 2, 4,

गोंड और राजगोंड में क्या अंतर है? आखिर ये दोनों हैं क्या?

गोंड और राजगोंड में अंतर बताएं? आखिर ये दोनों हैं क्या? गोंड और राजगोंड में इन दोनों के बीच रोटी और बेटी का संबंध नहीं होता ऐसा क्यों? गोंड क्या है कौन है?-  ये तो आप सभी गोंडियन समाज के सगाजनों को पता ही होगा कि हम कौन हैं क्या है? फिर भी जिसको नहीं पता है तो में उसको थोड़ा सांछिप्त में बता देता हूँ। गोंड अनादि काल से रहने वाली भारत की प्रथम मूल जनजाति है या भारत की प्रथम मूलनिवासी जाति है। गोंड जनजाति को कोयतूर भी कहा जाता है क्योंकि कोयतूर भारत के प्रचीन नाम कोयामूरी द्वीप के रहने वाले वंशजों में से है। कोया पुनेम में कोयतूर जन उसे कहा गया है जो मां की कोख से जन्म लिया है न की किसी के मुंह, पेट या भुजा या पैर से जन्मां हो। गोंडी दर्शन के अनुसार भारत का प्रथम नाम गोंडवाना लैंड के नाम से जाना जाता है और द्वितीय नाम सिगार द्वीप एवं तृतीय नाम कोयामूरी द्वीप बताया गया है।   गोंड जाति के लोग प्रकृतिक पूजक होते हैं एवं उनका खुद का गोंडी धर्म है, और गोंड हिंदू नहीं है। क्योंकि गोंडो के हर रीति रिवाज धर्म संस्कृति बोली भाषा, तीज त्यौहार, रहन सहन, आचार विचार और संस्कार तथा सभ्यता सब हिंदूओ से